पुलिस फाइल में बढ़ा अपराध का एक और कॉलम, दर्ज होने लगे FIR

-कोरोना संक्रमण के बीच इस नए अपराध से निबटना पुलिस के लिए मुश्किल काम

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 16 May 2020, 04:58 PM IST

सिंगरौली. कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के दौर में पुलिस डायरी में एक नए तरह के अपराध को शामिल कर लिया गया है। इसके तहत पुलिस की कार्रवाई तेज हो गई है। रोजाना एफआईआर दर्ज किए जा रहे हैं। दंडात्मक कार्रवाई भी हो रही है। लेकिन अपराधी हैं कि उन पर मानों कोई असर ही नहीं हो रहा। वे बेखौप हो कर अपने काम को अंजाम दे रहे हैं।

बता दें कि कोरोना संक्रमण के दौर में सबसे बड़ा अपराध है मेडिकल एडवाइजरी को न मानना। अब प्रशासन ने जिसे संदिग्ध मानते हुए होम क्वारंटीन कर दिया है। उसकी जिम्मेदारी बनती है कि वह घर में रहे। अगर वह अकेला होम क्वारंटीन है तो घर के लोगो से भी दूर रहे। लेकिन कुछ लोग हैं जो पुलिस व प्रशासन के निर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ाने में लगे हैं। उन पर कोरोना का खौफ जैसे है ही नहीं। वो खुलेआम गांव,मोहल्लो में घूम रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ अब प्रशासन ने सख्त रवैया अख्तियार किया है। उनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज की जा रही है।

कटनी में अब तक ऐसे सौ से ज्यादा लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। दरअसल जिला प्रशासन पूरी तरह से इस बात में लगा है कि जैसे भी हो जिले में कोरोना का संक्रमण न होने पाए। कारण यह है कि आस-पास के जिलों सतना और रीवा में कोरोना का संक्रमण तेज हो गया है। ऐसे में जिले को बचाना, जिले के लोगों को सुरक्षित रखना जिला प्रशासन का दायित्व भी है। ऐसे में जब संक्रमित जिलों से लोगों की घरवापसी हो रही है तो पुलिस ने कड़ाई बरतनी शुरू कर दी है।

इसी के तहत संदिग्ध लोगो को होम क्वारंटीन किया जा रहा है। पर वो हैं कि मानने को तैयार ही नहीं। ऐसे में पुलिस ने एफआईआर का तरीका निकाला है। हालांकि फिलहाल कुछ लोगों पर इसका भी असर नहीं दिख रहा है।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned