नई बस्तियों में सड़क न नाली, बिना व्यवस्था तन रही बड़ी-बड़ी बिल्डिंग

शहरी क्षेत्र में मनमाने तरीके से प्लाटिंग ......

By: Ajeet shukla

Published: 05 Sep 2020, 10:48 PM IST

सिंगरौली. शहर का गनियारी क्षेत्र हो या पचखोरा या फिर ढोटी का इलाका हो। सभी जगह अनियोजित तरीके नई बस्तियां बस रही हैं। शहरी सीमा में बड़ी-बड़ी बिल्डिंग ऐसे क्षेत्र में तन रही हैं, जहां अभी न ही सड़क की व्यवस्था है और नाली की। बिजली व पानी जैसी कई दूसरी समस्या होने के बावजूद बसाहट का सिलसिला जारी है।

हैरत की बात यह है कि इस मामले में न ही प्रशासन कोई कार्रवाई करने की जरूरत समझ रहा है और न ही नगर निगम अधिकारी। जबकि अनियोजित मनमाने तरीके बसाई जा रही बस्तियां आने वाले दिनों में न केवल स्थानीय लोगों के लिए बल्कि प्रशासन व नगर निगम के लिए भी मुसीबत बनेंगी।

शहरी क्षेत्र में वैसे तो अनियोजित निजी निर्माण काफी पहले से चल रहा है, लेकिन नए कलेक्टर और नए नगर निगम आयुक्त के आने के बाद मनमाने तरीके से प्लाटिंग और अनियोजित निर्माण में तेजी आ गई है। प्रशासन और नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारी मौके फायदा उठाते हुए मनमानी तरीके से हो रही प्लाटिंग को नजरअंदाज कर रहे हैं। जिम्मेदार अधिकारियों की सोच है कि जब तक नए साहब स्थिति को समझेंगे तब तक काफी काम पूरा हो गया रहा होगा।

पूर्व में लगाया गया था प्रतिबंध
शहरी सीमा में पिछले पांच वर्षों में हुए अनियोजित निजी निर्माण व मनमाने तरीके से की गई प्लांटिंग मुसीबत का सबब बन गए हैं। इस स्थिति को देखते हुए नगर निगम ने करीब एक वर्ष पहले नए निर्माण कार्यों के लिए निगम से मंजूरी को अनिवार्य कर दिया गया था। इसके बाद से अनियोजित निजी निर्माण पर कुछ हद तक लगाम लग गई थी, लेकिन पुराने साहबों के जाने के बाद महकमा फिर से ढीला पड़ गया है।

वर्जन -
शहर की सीमा क्षेत्र में बिना अनुमति किसी भी तरह का निर्माण नहीं होना चाहिए। इससे बाद में समस्या आती है। इस संबंध में स्थिति को खुद देखेंगे और आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।
आरपी सिंह, आयुक्त नगर निगम सिंगरौली।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned