सरपंच सचिव को पांच लाख रुपए की वसूली का नोटिस

पीसीसी सड़क, माध्यमिक शाला भवन एवं शौचालय की राशि दुरुपयोग का आरोप , जिला पंचायत सीईओ ने की कार्रवाई

By: Vedmani Dwivedi

Updated: 29 Jul 2018, 02:34 PM IST

सिंगरौली. जनपद पंचायत बैढ़न के बेतरिया ग्राम पंचायत के सरपंच एवं सचिव के खिलाफ पांच लाख चार हजार रुपए की वसूली का नोटिस जारी किया गया है। उनके खिलाफ यह नोटिस पीसीसी सड़क, माध्यमिक शाला भवन एवं शौचालय की निर्माण राशि में अनियमितता के आरोप में जारी की गई है।

ग्राम पंचायत को पीसीसी सड़क, माध्यमिक शाला भवन एवं शौचालय निर्माण के लिए राशि जारी की गई थी लेकिन सरपंच सचिव ने निर्माण पूरा नहीं कराया। जिसके बाद जिला पंचायत सीईओ प्रियंक मिश्रा ने नोटिस जारी किया।

सरपंच के खिलाफ चल रही धारा 40 की कार्रवाई
सरपंच कालिका पर पहले से ही धारा 40 की कार्रवाई चल रही है। अब फिर से वसूली का नोटिस उसकी मुश्किल और बढ़ा दी है। हालांकि सरपंच ने सचिव को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है।

सरपंच के मुताबिक सचिव ने उसे अंधेरे में रखकर यह अनियमितता की। सरपंच एवं सचिव दोनों को ही आधी - आधी राशि जमा करने के लिए कहा गया है।

ग्रामीणों ने की शिकायत
ग्रामीणों ने सरपंच एवं सचिव के खिलाफ शिकायत किया था। जिसके बाद दोनों के खिलाफ जिला पंचायत में धारा 40 एवं 92 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया। ग्रामीणों ने बताया ग्राम पंचायत में कागज में पीसीसी सड़क बनी है लेकिन मौके पर नहीं है।

इसी प्रकार माध्यमिक स्कूल भवन बनाने के लिए ग्राम पंचायत को राशि दी गई थी। राशि खर्च कर दी गई लेकिन भवन नहीं बन पाया। शौचालय निर्माण में भी सचिव ने अनियमितता की। शौचालय बनाने का काम करने वाले ठकेदारों एवं दुकानदारों को भुगतान नहीं किया। जिसकी कई जगह शिकायत की गई है।

60 लाख की हो चुकी है वसूली
जिला पंचायत में धारा 40 एवं 92 की कार्रवाई शुरू होने के बाद अब तक करीब 60 लाख रुपए की वसूली की जा चुकी है। स्कूल निर्माण, ऑगनवाड़ी भवन की ज्यादा राशि वसूली गई है।

दरअसल जिले के ज्यादातर सरपंच - सचिवों ने स्कूल भवन का निर्माण पूरा नहीं कराया था। उन्हीं से यह वसूली की गई है। इसके साथ ही पीसीसी सड़क एवं अन्य निर्माण कार्य पूरा नहीं कराने एवं राशि गबन करने वालों से वसूली की गई है।

 

Vedmani Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned