एमपी के ऐसे जिलों में भी बढ़ा कोरोना का खतरा, जहां अभी तक नहीं मिला है एक भी संक्रमित मरीज

भीड़ के साथ कोरोना संदिग्ध के प्रवेश की संभावना....

By: Ajeet shukla

Updated: 05 May 2020, 11:49 PM IST

सिंगरौली. दूसरे राज्यों और जिलों से सैकड़ों लोग हर रोज जिले में प्रवेश कर रहे हैं। लगातार बढ़ती संख्या ने जिला प्रशासन की नींद उड़ा दी है। वैसे तो बाहर से आने वालों को होम क्वारंटीन कर उन पर नजर रखी जा रही है। भीड़ के साथ कोरोना संदिग्ध के प्रवेश का भी खतरा भी अधिकारियों को सताने लगा है। इसकी मुख्य वजह कोरोना का संक्रमण पड़ोसी जिलों तक पहुंचना है।

संभाग के चार जिलों में अब सीधी व सिंगरौली ही ऐसा जिला है, जहां अभी तक एक भी कोरोना संदिग्ध नहीं हैं। जिला कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त रहे। प्रशासन इस कोशिश में एड़ीचोटी का जोर लगाए हुए हैं। जिले में प्रवेश के सभी मार्गों की बैरिकेटिंग की गई और वहां पुलिस फोर्स के साथ स्वास्थ्य परीक्षण के लिए चिकित्सकों की टीम भी तैनात की गई है।

इसके बावजूद कोरोना संदिग्ध मरीज के जिले में प्रवेश का खतरा बना हुआ है। इसकी एक वजह यह है कि दूसरे जिलों से लोग ऐसे रास्तों से भी जिले में प्रवेश कर रहे हैं, जहां न ही पुलिस का पहरा है और न ही स्वास्थ्य विभाग की टीम उनका स्वास्थ्य परीक्षण कर पा रही है। जिला प्रशासन वस्तुस्थिति से अवगत है, यही वजह है कि सख्त निर्देश जारी किया गया है।

निगरानी में लगाया गया है राजस्व अमला
जिले में प्रवेश करने वाले सभी लोगों को होम क्वारंटीन कर उन पर नजर रखने के लिए राजस्व विभाग के मैदानी अमले के साथ महिला एवं बाल विभाग विभाग और स्वास्थ्य विभाग की टीम लगाई गई है। पटवारी से लेकर आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों व आशा कार्यकर्ताओं को नजर रखने की जिम्मेदारी दी गई है।

शहरी क्षेत्र में नगर निगम के कर्मचारी भी लगाए गए हैं। वरिष्ठ अधिकारी भी लगातार भ्रमण कर मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सभी को यह निर्देश है कि उन लोगों पर भी नजर रखा जाए, जो शहर या गांव में बिना अनुमति के चोरी छिपे पहुंचे हैं। ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई किए जाने का निर्देश है।

अब तक पहुंचे करीब 10 हजार लोग
अधिकारियों के मुताबिक जिले में अब तक दूसरे राज्यों व जिलों से करीब 10 हजार लोग पहुंच चुके हैं। इनमें से करीब साढ़े 8 हजार लोग होम क्वारंटीन किए गए हैं। वर्तमान में करीब ढाई हजार लोग होम क्वारंटीन में हैं। इसके अलावा बाकी छह हजार लोगों ने होम क्वारंटीन की 14 दिनों की अवधि पूरी कर ली है।

अधिकारियों की ओर से लगाए गए अनुमान के मुताबिक 17 मई तक लॉकडाउन की अवधि मुश्किल भरी है। इस अवधि में कोई संदिग्ध मरीज नहीं मिलता है तो जिला कोरोना के खतरे से बच जाएगा। लॉकडाउन के तीसरे चरण की अवधि में लोगों को खुद को सुरक्षित रखना होगा। सभी निर्देशों का पालन बचाव का एक मात्र उपाय है।

ऐसे समझिए जिले में किस तरह आ रही भीड़
- 04 मई को जिले में 505 ने किया प्रवेश
- 03 मई को जिले में 383 ने किया प्रवेश
- 02 मई को जिले में 328 ने किया प्रवेश
- 01 मई को जिले में 431 ने किया प्रवेश
- 30 अप्रैल को जिले में 344 ने किया प्रवेश

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned