उपभोक्ताओं की कट रही जेब, घर नहीं पहुंच रहा एलपीजी सिलेंडर, आपूर्ति में मनमानी कर रहे एजेंसी संचालक

अधिकारी बने हुए तमाशबीन.....

By: Amit Pandey

Published: 08 Dec 2019, 02:27 PM IST

सिंगरौली. एलपीजी उपभोक्ताओं से होम डिलीवरी के नाम पर भले ही शुल्क की वसूली हो रही है, लेकिन उपभोक्ताओं का सिलेंडर घर तक नहीं पहुंच रहा है। एजेंसी संचालक सिलेंडर की आपूर्ति में जमकर मनमानी कर रहे हैं। हैरत की बात तो यह है कि जिम्मेदार विभागों के अधिकारी भी मनमानी पर गौरफरमाने की जरूरत नहीं समझते हैं। उपभोक्ताओं की इस गंभीर समस्या के प्रति विभाग के जिम्मेदार अधिकारी तमाशबीन बने बैठे हैं। जानकारी के लिए बता दें कि इन दिनों एलपीजी सिलेंडर भराने का पर्चा 724 रुपए में कट रहा है लेकिन मनमानी का आलम यह है कि घर तक सिलेंडर पहुंचाने का 50 से 60 रुपए का चार्ज अधिक लिया जा रहा है।

यह हाल न केवल शहर का है बल्कि ग्रामीण अंचल के निगरी में होम डिलीवरी के नाम पर लूट मची है। शहर सहित ग्रामीण अंचलों में ग्रामीण वितरक केंद्रों की ओर से उपभोक्ताओं की जेब काटी जा रही है। आलम यह है कि मजबूर होकर उपभोक्ताओं को चार्ज से अधिक पैसा चुकाना पड़ रहा है। शहर के कई घरों में गैस सिलेंडर की डिलीवरी के वक्त हॉकर व गृहणी के बीच ऐसी झिकझिक आम हो गई है। जिसकी वजह है होम डिलीवरी के नाम पर हॉकर्स द्वारा की जा रही मनमानी वसूली। ये लोग कंज्यूमर्स से 40 से 50 रुपए एक्स्ट्रा वसूल रहे हैं। इसकी शिकायतें जिला आपूर्ति विभाग तक पहुंची हैं। जिससे लेकर अधिकारियों ने गौर नहीं फरमाया है।

यह है नियम
घरेलू गैस सिलेंडर की बुकिंग के बाद जनरेट होने वाले कैश मेमो के चार्ज में ही डिलीवरी का शुल्क शामिल होता है। जितने की रसीद हॉकर कंज्यूमर को देता है उसमें डिलीवरी चार्ज देने की कोई आवश्यकता नहीं है। अगर कोई अतिरिक्त चार्ज मांगता है तो उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।

यह है ताजा मामला

केस-एक
जयंत के प्रमोद कुमार ने बताया कि घर तक सिलेंडर पहुंचाने का ५० रुपए अलग चार्ज देना पड़ता है। जबकि कैश मेमो के चार्ज में डिलवरी चार्ज जुड़ा होता है। यह एजेंसी संचालक की मनमानी है।

केस-दो
निगरी के पुष्पजीत कुमार का कहना है कि अधिकारियों के लापरवाही का नतीजा यह है कि होम डिलवरी के नाम पर उपभोक्ताओं की जेब ढीली हो रही है। ४०-५० रुपए तक चार्ज ले रहे हैं।

यह है स्थिति:
ब्लाक एजेंसी
बैढऩ 10
देवसर 06
चितरंगी 05

फैक्ट फाइल:
घरेलू एलपीजी उपभोक्ता - 65 हजार
उज्जवला के उपभोक्ता - 1 लाख 42 हजार
जिलेभर में गैस एजेंसियां - 21
यहां करें शिकायत: जिला लेबल पर 181

वर्जन:-
होम डिलीवरी के नाम पर उपभोक्ताओं से अलग से चार्ज लिया जा रहा है तो इसकी जांच कराई जाएगी। यदि लापरवाही मिली तो संबंधित एजेंसी संचालक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
आरएम शुक्ला, जेएसओ सिंगरौली।

Amit Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned