जिस अधिकारी पर लगा खनन का आरोप, उसी ने की जांच और दे दी क्लीन चिट

suresh mishra

Publish: Apr, 17 2018 01:16:01 PM (IST)

Singrauli, Madhya Pradesh, India
जिस अधिकारी पर लगा खनन का आरोप, उसी ने की जांच और दे दी क्लीन चिट

सरपंच ने कलेक्टर से की शिकायत, खनिज अधिकारी पर डूब क्षेत्र में अवैध उत्खनन में मदद करने का आरोप, ग्रामीणों एवं खनन कर रही कंपनी के बीच विवाद

सिंगरौली। बैढ़न जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत क्षेत्र पिपराकुरंद के सरपंच अनंत कुमार ने जिला खनिज अधिकारी एके राय पर गंभीर आरोप लगाए हैं। कलेक्टर को दी शिकायत में सरपंच ने कहा कि खनिज अधिकारी की शह पर केवी टेक्नो सॉल्यूशन कादोंपानी स्थित रिहन्द डेम में रेत का अवैध उत्खनन कर रहा है। शिकायत में सरपंच ने बताया कि इस बावत कई बार जिला खनिज अधिकारी से लिखित में शिकायत की गई लेकिन कार्रवाई करने की बात तो दूर मौके पर जांच करने तक नहीं पहुंचे।

जिला खनिज अधिकारी खुद अवैध उत्खनन को सह दे रहे हैं। अवैध उत्खनन करने वालों से शिकायत करने वालों की सांठ- गांठ भी करा रहे हैं। सरपंच के इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर अनुराग चौधरी ने मामले की जांच के निर्देश दिए। जिले में अवैध उत्खनन आमबात है इसका विरोध करने वालों की अवाज खनिज विभाग ही बंद कर देता है। मजौना के पूर्व सरपंच रामपति शुक्ला कहते हैं खनिज विभाग के अधिकारी इस पूरे खेल में शामिल हैं।

जिस पर आरोप वही पहुंचा जांच करने
अब जिस पर आरोप है वह जांच कितनी पारदर्शिता से करेगा। ऐसा ही कादोंपानी स्थित रिहंद डैम में रेत के उत्खनन की शिकायत में भी हुआ। खनिज अधिकारी एके राय ने मौके पर जाकर जांच की, लेकिन इसके बाद भी खनन कर रही कंपनी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। उसका काम उसी तरह से चल रहा है।

कंपनी पर कोई कार्रवाई नहीं

ऐसे में सरपंच ने खनिज अधिकारी पर खनन कर रही कंपनी से सांठगांठ का आरोप लगाया है। कलेक्टर के निर्देश पर जिला खनिज अधिकारी रविवार को कादोंपानी स्थित रिहंद डैम में जांच करने पहुंचे थे। वहां पटवारी से खनन क्षेत्र की नाप कराई गई, लेकिन खनन कर रही कंपनी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

रोक दी पानी की धारा
सरपंच ने बताया कि रिहंद डैम के डूब क्षेत्र में सारे नियमों को ताक में रखकर खनन किया जा रहा है। पानी की धारा को रोक दिया गया। डूब क्षेत्र के बीचों-बीच पोकलैंड मशीन से खनन हो रहा है। बताया कि रात में 100 से डेढ़ सौ ट्रक रेत निकाली जा रही है।

अभयारण्य क्षेत्र में खनन
इसी प्रकार चितरंगी क्षेत्र के बीछी सोन नदी घाट से अवैध उत्खनन हो रहा है। बताया जा रहा है कि अभयारण्य क्षेत्र होने के बावजूद खनिज माफिया यहां से अवैध उत्खनन कर रहे हैं। खरखौली एवं करौंदिया जैसे कई ठिकानों पर अवैध रूप से रेत निकाली जा रही है। गढ़वा क्षेत्र में कई जगह रेत एकत्रित की गई है।

मयार, महान व सोन नदी को कर रहे छलनी
खनिज विभाग एवं प्रशासन की सह पर खनिज माफिया नदियों का सीना छलनी कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि प्रशासन ने इन्हें खुली छूट दे रखी है। बैढ़न के मयार नदी में नौढिय़ा, जरहा में अवैध उत्खनन कर रही कंपनी में गांव के लोगों को धमकाने के आरोप लगते रहे हैं। विवाद की स्थिति बनी रहती है। इसी प्रकार हिर्रवाह में भी ग्रामीणों ने कंपनी के गुर्गों से त्रस्त होकर प्रदर्शन किया था।

रिहंद डेम कांदोपानी में रेत का खनन

चांचर, मझौली, सिंगरौलिया, बीजपुर रोड़ में रिहंद डेम कांदोपानी में रेत का खनन हो रहा है। देवसर में महान नदी मजौना, ढोंगा, खम्हिरिया कला, रेही, तलवा में रेत का उत्खनन हो रहा है। चितरंगी क्षेत्र के गोपद नदी में भर्रा, देवरा, बीछी, चिकनी, बागी फुलकेश, गढ़वा रेत की निकाली जा रही है। रेत पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश भेजी जा रही है।

वहां पर रिहंद का डूब क्षेत्र है। पिपरा कुरुंद के सरपंच ने शिकायत किया था। विवाद की स्थिति निर्मित हो गई थी। सरपंच का कहना था कि निर्धारित क्षेत्र से बाहर खनन किया जा रहा है, जिसकी जांच करने रविवार को गए थे। नाप में कुछ गलत नहीं मिला है। सही स्थान पर ही खनन हो रहा है।
एके राय, जिला खनिज अधिकारी

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned