शिवराज ने कहा- सिंगरौली को सिंगापुर बनाने का वादा भूला नहीं हूं

35.30 करोड़ रुपए की लागत में बनेगा हवाई पट्टी

By: Pawan Tiwari

Updated: 14 Dec 2020, 12:23 PM IST


सिंगरौली. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सिंगरौली के समग्र विकास के लिए प्रारंभ कार्यों को शीघ्र पूर्ण किया जाएगा। इसे आदर्श स्मार्ट सिटी भी बनाया जाएगा। यहां हवाई पट्टी सिर्फ एक हवाई पट्टी न होकर प्रगति की नई और महत्वपूर्ण शुरुआत है। इससे आर्थिक विकास को गति मिलेगी। इस हवाई पट्टी को सुविधा युक्त हवाई अड्डे के रूप में विकसित किया जाएगा, ताकि इसका पूरा लाभ क्षेत्र को प्राप्त हो। देश के प्रमुख नगरों से जुड़कर अब इस क्षेत्र को पर्यटन, रोजगार और औद्योगिक विकास की दृष्टि से स्थान मिल सकेगा।

मुख्यमंत्री ने निवास से रिमोट द्वारा सिंगरौली एयर स्ट्रिप का वर्चुअल भूमि-पूजन करते हुए कहा कि सिंगरौली हवाई पट्टी सिंगरौली क्षेत्र के विकास में मील का पत्थर सिद्ध होगी। राज्य शासन ने 80 हेक्टेयर भूमि सिंगरौली हवाई पट्टी के लिए आवंटित की है। इसकी लागत 35.30 करोड़ रुपए है। यह कार्य समय सीमा में गुणवत्ता के साथ पूर्ण हो और इसे हवाई अड्डे के रूप में विकसित किया जाए ताकि देश के अन्य नगरों से भी इसे जोड़ा जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिंगरौली सिंगापुर बनेगा। हम सभी ने मिलकर सिंगरौली के विकास की योजना बनाई है।

सिंगरौली जिले ने प्रत्येक क्षेत्र में प्रगति की है। प्रदेश का खनिज राजस्व सर्वाधिक इस क्षेत्र से प्राप्त होता है। इसके साथ ही यहां 15 हजार मेगावाट विद्युत उत्पादन भी हो रहा है। सबसे सस्ती बिजली सिंगरौली सासन प्लांट से एक रूपया 19 पैसे की दर से मिलना शुरू हुई। कोयला खदानों से रोजगार के अवसर बढ़े हैं। यहां 70% स्थानीय लोगों को रोजगार मिले, इस दिशा में प्रयास बढ़ाए जाएंगे। सिंगरौली प्रदेश और देश का प्रमुख पावर हब है।

वर्ष 2008 में इसे जिला घोषित किया गया था तब यह विचार था कि सिंगरौली को प्रदेश का सबसे विकसित जिला बनाएंगे। गत 12 वर्ष में सिंगरौली ने प्रत्येक क्षेत्र में प्रगति की है। कोयला उत्पादन में भी वृद्धि हुई है, रोजगार और अर्थव्यवस्था को पावर प्लांट और कोयला खदानों से गति मिली है।

Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned