विस्थापितों की समितियों को मिलेगा रोजगार, कम होगा प्रदूषण

एनटीपीसी विंध्याचल को सांसद ने दिया निर्देश ....

By: Ajeet shukla

Published: 06 Apr 2021, 11:57 PM IST

सिंगरौली. एनटीपीसी विंध्यनगर के विस्थापितों को पुनर्वास नीति के तहत दी गई सुविधाओं और विस्थापितों को रोजगार मुहैया कराने के मामले में बरती जा रही उदासीनता को सांसद ने गंभीरता से लिया है। साथ ही एनटीपीसी विंध्याचल के बलियरी स्थिति फ्लाई ऐश डैम से हो रहे प्रदूषण पर नाराजगी जाहिर की।

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान सांसद ने जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि विस्थापितों के पंजीकृत समितियों को रोजगार की मुख्य धारा से जोड़ा जाए। साथ ही उन्होंने बलियरी के रहवासियों को प्रदूषण से राहत दिलाने को भी कहा।

आकांक्षी जिलों में शामिल होने के मद्देनजर किए जा रहे कार्यों की समीक्षा बैठक में सांसद रीति पाठक ने कहा कि रोजगार देने और विस्थापितों की समस्या को प्राथमिकता के तौर पर लिया जाए। बैठक में उपस्थित सिंगरौली विधायक राम लल्लू वैश्य, देवसर विधायक सुभाष वर्मा ने भी सांसद के निर्देश का समर्थन किया।

कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने प्रशासन द्वारा किए जा रहे कार्यों पर प्रकाश डाला। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक बीरेंद्र सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष वीरेंद्र गोयल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। एनटीपीसी के अधिकारियों की मौजूदगी में आयोजित बैठक में सांसद ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि एनटीपीसी में पंजीकृत कई समितियों को कार्य से वंचित किया गया है।

इससे विस्थापितों की समितियों को बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने निर्देश दिया कि एनटीपीसी को आंकाक्षी जिले के लिए निर्धारित किए गए मापदंड की रूप रेखा के तहत कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि एनटीपीसी द्वारा समितियों को कार्य दिया जाए।

विस्थापितों को पेयजल सहित पुनर्वास नीति के तहत लाभ प्रदान किया जाए। स्कील डेवलपमेट के तहत प्रशिक्षण देकर विस्थपितों को रोजगार की मुख्यधारा से जोड़ा जाए। इसके लिए विंध्याचल के अधिकारियों को तटस्थता के साथ कार्य करना होगा।

सांसद के निर्देश के बाद एनटीपीसी विंध्याचल कार्यकारी निदेशक मुनीश जौहरी ने बताया गया कि विंध्याचल परियोजना में कुल 225 समितिया पंजीकृत हैं। इनमें से 93 को वर्तमान समय में कार्य दिया गया है। आकांक्षी जिले के तहत एनटीपीसी को दिए गए ग्राम पंचायतों व नगर निगम के वार्डों में स्वास्थ्य शिक्षा, स्वच्छता के तहत कार्य किए गए हैं।

बैठक के दौरान सिंगरौली विधायक व देवसर विधायक ने भी कार्यकारी निदेशक से कहा कि वह विस्थापितों को अधिक से अधिक से सुविधा प्रदान करें। बैठक के दौरान सीइओ जिला पंचायत साकेत मालवीय, अपर कलेक्टर डीपी बर्मन, एसडीएम ऋषि पवार, नगर निगम आयुक्त आरपी सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

उठा बलियरी में प्रदूषण का मुद्दा
बैठक के दौरान एनटीपीसी विंध्याचल के बलियरी स्थित फ्लाई ऐश डैम से होने वाले वायु व जल प्रदूषण का मुद्दा भी उठा। विधायकों ने एैश डैम से हो रहे प्रदूषण को रोकने के लिए कहा। साथ ही कलेक्टर से कहा गया कि वह इसकी मॉनिटरिंग करें। जल्द से जल्द बलियरी के रहवासियों को प्रदूषण से मुक्ति मिल जाना चाहिए।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned