सुबह झमाझम बारिश का दौर, बढ़ी ठंड में घरों में दुबके रहे लोग, कार्यालयों में सन्नाटा

स्कूली छात्र भी परेशान....

By: Amit Pandey

Published: 03 Jan 2020, 02:50 PM IST

सिंगरौली. बारिश के साथ नए वर्ष का आगमन हुआ। दो जनवरी गुरुवार की सुबह भी झमाझम बारिश शुरू हो गई। जिससे लोग घरों में दुबके रहे। अलाव का सहारा लेकर ठंड को दूर करने का जतन लोग कर रहे थे। दिनभर सूरज की लुकाछिपी का दौर चलता रहा। स्थिति यह है कि स्कूलों में छुट्टी की घोषणा नहीं की गई है। केवल समय में परिवर्तन करने से अभिभावक संतुष्ट नहीं हैं।

सर्द हवाओं के बाद गुरुवार को मौसम में ठंडक बढ़ी। दिनभर सूर्य देव ने दर्शन नहीं दिए। मौसम में ठिठुरन बढऩे से लोग गर्म कपड़ों में पूरी तरह से लिपटे दिखे। जबकि छोटे बच्चे व बुजुर्ग घरों में ही दुबकने पर मजबूर रहे। सरकारी कार्यालयों में भी ठंड का असर दिखा। मौसम के बदले रूख की मुख्य वजह आसमान में दिन भर बादलों का छाए रहना है। गुरुवार शाम को भी बारिश की संभावना बनी रही।

ठंड से जन जीवन अस्त व्यस्त
मौसम में शीत लहर के चलते आम जन जीवन अस्त व्यस्त रहा। ऐसे में लोगों का घर से निकलना तक मुश्किल हो गया। शीत लहर का असर बाजारों की रौनक पर भी पड़ा। दुकानदार भी सर्दी से बचने के लिए अलाव का सहारा लेते दिखे। इधर, सर्दी के कारण स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति कम हो गई है। बारिश व कोहरा सब्जियों को प्रभावित कर रहा है। खासकर आलू ज्यादा प्रभावित है। इसके कारण सब्जियों के दाम कम नहीं हो रहे हैं।

फिकी रही बाजारों की रौनक
वहीं सर्दी के कारण बाजार में भी रौनक फिकी रही। लोगों ने सर्दी से बचने के लिए जहां अलाव का सहारा लिया। वहीं दिन भर चाय की खपत भी बढ़ी। गुरुवार को दिन में अधिकतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस रहा। दिन भर सर्द हवाएं चलती रही। पूरा दिन आसमान में बादल छाए रहे। बताया गया है कि अभी कई दिन तक शीत लहर जारी रहेगी।

संभाग के अन्य जिलों में छुट्टी
बतादें कि सिंगरौली को छोडक़र रीवा संभाग के अन्य जिलों में शिक्षा विभाग की ओर से छुट्टी की घोषण कर दी गई है। जबकि सिंगरौली जिले के शिक्षा अधिकारी स्कूलों में छुट्टी की घोषणा नहीं किया है। बल्कि शासकीय व निजी विद्यालयों के समय परिवर्तन तक कार्रवाई को सीमित कर दिया है। जबकि बढ़ते ठंड के चलते स्कूलों में छुट्टी होनी चाहिए।

उपस्थिति दर्ज कर चलते बने कर्मचारी
ठंड के परेशानी का आलम इस कदर रहा कि कर्मचारी कार्यालयों में कुछ देर भी नहीं टिके। कलेक्ट्रेट में स्थिति कईविभागों में कर्मचारी उपस्थिति दर्ज करने के बाद अलाव की तलाश में बाहर निकल गए। कईने तो घरों का रास्ता पकड़ लिया। आलम यह रहा कि कार्यालयों में पूरे समय सन्नाटा पसरा रहा।

Amit Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned