एमपी का एक जिला ऐसा जो सबसे पिछड़ा, फिर भी सरकार को किया मालामाल

जानिए कितनी राशि हुई जमा ....

By: Ajeet shukla

Published: 07 Apr 2021, 12:41 AM IST

सिंगरौली. वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर जिले के विभिन्न विभागों ने राजस्व की वसूली कर 3000 करोड़ से अधिक की राशि खजाने में जमा की है। इनमें से सबसे अधिक राशि खनिज विभाग की है। हालांकि इन सबके बीच कई विभाग राजस्व वसूली में लक्ष्य से पीछे रह गए हैं। यह बात और है कि पिछले वर्ष की तुलना में ज्यादातर विभागों की ओर से की गई वसूली संतोषजनक है।

वित्तीय वर्ष तक निर्धारित लक्ष्य से अधिक की राशि खनिज विभाग ने वसूल की है। खनिज विभाग को अब की बार 1962 करोड़ रुपए की वसूली करनी थी। खनिज अधिकारी एके राय के मुताबिक अब तक 2100 करोड़ रुपए की वसूली की जा चुकी है। खनिज विभाग की यह वसूली प्रदेश के अन्य जिलों की तुलना में सबसे अधिक है।

राज्य कर विभाग की ओर से 625 करोड़ रुपए तक की राजस्व वसूली हुई है। यह राशि पिछली बार की तुलना में 15 करोड़ रुपए से भी अधिक है। कोरोना संक्रमण काल के दौरान यह वसूली संतोषजनक मानी जा रही है। इसी प्रकार परिवहन विभाग ने वर्तमान वित्तीय वर्ष में 37.25 करोड़ के लक्ष्य को पूरा कर लिया गया है।

आबकारी विभाग ने भी वसूली का लक्ष्य पूरा कर लिया है। आबकारी को इस बार 82 करोड़ रुपए का लक्ष्य दिया गया था। इसी प्रकारण पंजीयन विभाग ने भी लक्ष्य से अधिक राजस्व प्राप्त किया है। पंजीयन विभाग को ५२ करोड़ रुपए तक मिलने की उम्मीद थी। विभाग ने लक्ष्य को पीछे छोड़ते हुए कर करीब 70 करोड़ रुपए प्राप्त किया है।

राजस्व अधिकारियों वसूले 63 करोड़
वैसे तो राजस्व अधिकारियों को अब की बार 18 करोड़ रुपए की वसूली करनी थी, लेकिन सभी ने मिलकर 63 करोड़ रुपए की वसूली की है। हालांकि यह वसूली अधिकारियों ने अभी हाल ही में की है। इसे कलेक्टर राजीव रंजन मीना की सख्ती का नतीजा माना जा रहा है। सख्ती के चलते राजस्व अधिकारियों ने वसूली का लक्ष्य पूरा कर लिया है।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned