सीधी घटना के बाद याद आई अमिलिया घाटी, मौके पर पहुंचे कलेक्टर व एसपी

सड़क की खामियों को किया चिह्नित .....

By: Ajeet shukla

Published: 21 Feb 2021, 10:11 PM IST

सिंगरौली. सीधी में हुए बस दुर्घटना के बाद यहां जिले के अफसरों की नींद टूटी है। शुक्रवार को कलेक्टर राजीव रंजन मीना व पुलिस अधीक्षक बीरेंद्र कुमार सिंह जिले के सबसे खतरनाक ब्लैक स्पॉट अमिलिया घाटी पहुंचीे। एमपीआरडीसी सहित अन्य संबंधित अधिकारियों के साथ वहां पहुंचे कलेक्टर व एसपी ने उन सभी मौकों को देखा, जहां बीते दिनों कई सड़क दुर्घटनाएं हुई हैं या फिर जहां दुर्घटना होने की संभावना है।

मौके का मुआयना करने के बाद कलेक्टर ने एमपीआरडीसी के अधिकारियों को जल्द से जल्द तकनीकी खामी दूर किए जाने को लेकर कार्य शुरू कराने को कहा। कलेक्टर ने अधिकारियों को खतरनाक मोड़ व सड़क की अत्यधिक ढलान को कम कराए जाने का निर्देश दिया। साथ ही सड़क का और चौड़ीकरण कराने को कहा। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों से कहा कि निर्माण कार्य शुरू कराने को लेकर जो भी प्रक्रिया पूरी की जानी है। उसे तेजी के साथ पूरा किया जाए।

हर संभव कोशिश किया जाए कि अमिलिया घाटी पर बनी सड़क की तकनीकी खामी दूर हो जाए। ताकि भविष्य में किसी भी प्रकार की दुर्घटना न हो। कलेक्टर ने सड़क दुर्घटनाओं का सबब बनने वाले अन्य दूसरे ब्लैक स्पॉट की तकनीकी खामी को भी दूर करने को कहा। निरीक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जब तक अमिलिया घाटी सहित अन्य ब्लैक स्पॉट दुरुस्त नहीं कर दिए जाते तब तक संकेतक लगाने सहित सारे वह उपाय किए जाएं, जिससे दुर्घटनाओं पर लगाम लग सके।

पहले भी कई बार दिया जा चुका है निर्देश
वैसे तो अमिलिया घाटी की सड़क के चौड़ीकरण और ढलान को कम करने के लिए पहले भी कई बार अधिकारियों द्वारा निर्देशित किया जा चुका है, लेकिन सड़क सुरक्षा समिति में निर्णय होने के बावजूद अमिलिया घाटी की सड़क में सुधार नहीं किया जा सका है। इसकी मुख्य वजह बजट और अधिकारियों की इच्छा शक्ति में कमी माना जा सकता है।

यात्रा के दौरान घाटी में कांप जाता है कलेजा
वैसे तो स्थानीय लोगों की अब अमिलिया घाटी में यात्रा करना आदत बन गई है, लेकिन यात्रा के दौरान जब बाहरी लोग वहां से गुजरते हैं तो सड़कों की ढलान और मोड़ देखकर यात्रियों का कलेजा कांप जाता है। यात्रियों का यह भय यूं ही नहीं है। वहां अब तक दर्जन भर बार दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। सैकड़ों की संख्या में लोगों की जान गई है।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned