एससी-एसटी के प्रकरणों को लेकर चिंता में अधिकारी, जानिए क्या है वजह

कलेक्टर ने समीक्षा कर दिया निर्देश, एसपी भी रहे मौजूद ....

By: Ajeet shukla

Published: 26 Aug 2020, 12:15 AM IST

सिंगरौली. विवेचना मे ंलंबित प्रकरणों पर शीघ्र कार्यवाही करें। कोई प्रकरण जाति प्रमाण पत्र के आभाव में लंबित है तो तत्काल इसकी जानकारी दिया जाए। किसी भी स्थिति में लापरवाही नहीं किया जाए। संबंधित अधिकारियों को कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने एससी एसटी से लंबित प्रकरणों के निराकरण के संबंध में यह निर्देश जारी किया है।

कलेक्टर ने जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानीटरिंग समीति की बैठक में अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत आए प्रकरणों की समीक्षा की। एसपी वीरेंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जो भी समस्या आ रही है। तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया जाए।

कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक के दौरान कलेक्टर ने कहा कि अधिनियम के तहत 1 जनवरी से लेकर अब तक प्राप्त प्रकरणों में शामिल हत्या, बलात्कार, लज्जा भंग, अपमान व अभित्रास जैसे मामलों का निराकरण करें और दी जाने वाली सहायता राशि का भुगतान किया जाए। वहीं लोक अभियोजन अधिकारी से न्यायालय मे लंबित प्रकरणों की जानकारी प्रस्तुत करने और चिन्हित प्रकरणों में अपील करने की कार्यवाही करने के लिए सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग को निर्देश दिया।

बैठक में उपस्थित पुलिस अधीक्षक ने पुराने लंबित प्रकरणों पर आ रही कठिनाई के निवारण पर सलाह दिया। कहा कि प्रत्येक थाने में पिडि़त आश्रितों व गवाहों को देय मजदूरी, भोजन भत्ता, यात्रा भत्ता की जानकारी से संबंधित बोर्ड लगाया जाए। पुलिस अधीक्षक ने निर्देश दिया कि सभी थाना प्रभारियों को पत्र लिखा जाए कि किन-किन प्रकरणों में पिडि़तों, आश्रितों व गवाहों को राशि वितरित की गई।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned