अस्पताल पहुंचे कलेक्टर तो क्लीनिक में बैठे डॉक्टरों के बजने लगे फोन

नदारत मिले कई डॉक्टर, सीएमएचओ को फोन करके बुलाया, लगाई फटकार ....

By: Ajeet shukla

Updated: 21 Jul 2021, 11:32 PM IST

सिंगरौली. मंगलवार की सुबह जब कलेक्टर राजीव रंजन मीना अचानक जिला अस्पताल ट्रामा सेंटर पहुंचे तो क्लीनिक में बैठे चिकित्सकों के फोन बजने लगे। फोन की घंटी सुनकर चिकित्सक क्लीनिक से उठकर जिला अस्पताल की ओर भागेे। तब तक कलेक्टर ने निरीक्षण कर सीएमएचओ को फोन करके बुलाया और जमकर फटकार लगाया।

उन्होंने कहा कि ओपीडी में जो चिकित्सक अनुपस्थित हैं। सभी चिकित्सकों को कारण बताओ नोटिस जारी करें। हर रोज की तरह जिला अस्पताल ट्रामा सेंटर में मंगलवार को भी चिकित्सकों की लापरवाही जारी रही। इस बीच हुआ यूंकि कलेक्ट्रेट कार्यालय के लिए निकले कलेक्टर की गाड़ी अचानक जिला अस्पताल ट्रामा सेंटर की ओर मुड़ गई। सुबह की ओपीडी का समय हो चुका था।

ट्रामा सेंटर ओपीडी में करीब आधा दर्जन से अधिक चिकित्सक नदारद थे। कलेक्टर के पहुंचते ही स्टाफ नर्सों ने डॉक्टरों को फोन के जरिए सूचना दिया। सूचना पाकर चिकित्सक जब जिला अस्पताल पहुंचें तो कलेक्टर नोटिस जारी करने का फरमान जारी कर वापस कलेक्ट्रेट लौट चुके थे। डॉक्टर के पीछे निजी क्लीनिक से आए एक मरीज ने बताया कि डॉक्टर साहब को यहां से किसी ने फोन किया और डॉक्टर साहब वहां से भाग निकले।

परिसर में गंदगी देाकर सफाई कराने दिए निर्देश
निरीक्षण के दौरान जिला अस्पताल परिसर में चारों तरफ गंदगी दिखाई दे रही थी। जिसे देखकर कलेक्टर ने सीएमएचओ को सफाई व्यवस्था दुरुस्त कराने का सख्त निर्देश दिया है। वहीं दवा वितरण केन्द्र का जायजा लेकर जरूरी दवाओं की उपलब्धता पर विशेष जोर दिया। कलेक्टर ने कहा कि दवाओं के लिए मरीजों को प्राइवेट मेडिकल स्टोर पर न जाना पड़े। आवश्यक दवाएं स्टोर में उपलब्ध होनी चाहिए। इसकी शिकायत मिली तो संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

ओपीडी के समय पर मॉनिटरिंग करें
सीएमएचओ डॉ. एनके जैन को हिदायत देते हुए कलेक्टर मीना ने कहा कि लगातार ओपीडी में चिकित्सकों के अनुपस्थित होने की शिकायत मिल रही है। इसके मद्देनजर ओपीडी के समय पर सीएमएचओ खुद जाकर चिकित्सकों के चेंबर में दौरा करें और इसकी रिपोर्ट मुझे अवगत कराएं। यदि ऐसा सुनिश्चित करें तो हर हाल में चिकित्सक समय पर ओपीडी में पहुंचेंगे। लेकिन लापरवाह सीएमएचओ ट्रामा सेंटरके ओपीडी सहित दवा वितरण केन्द्र की स्थिति का जायजा लेने भूलकर भी नहीं जाते हैं। यही कारण है कि लापरवाही जारी है।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned