‘कोचिंग सिर्फ एक रास्ता है, मंजिल तो कड़ी मेहनत से ही मिलती है’

कलेक्टर ने छात्रों को किया प्रेरित...

सिंगरौली. छात्रों को जीवन में आगे बढऩे के लिए कोचिंग को सिर्फ एक माध्यम समझना चाहिए। मंजिल तो केवल कड़ी मेहनत से प्राप्त होती है। इसलिए लक्ष्य प्राप्त करने के लिए पूरा जोर लगा दो। तब तक लगे रहो, जब तक मंजिल मिल नहीं जाती है।

कलेक्टर केवीएस चौधरी ने यह प्रेरणा शासकीय अग्रणी महाविद्यालय बैढऩ की ओर से आयोजित एक कार्यशाला में छात्रों को दी। छात्रों को संबोधित करते हुए कलेक्टर ने कहा कि पाठ्यक्रम पर आधारित किताबों के साथ सभी को दैनिक समाचार पत्रों का अवलोकन भी करना चाहिए।

डिक्सनरी के माध्यम से कम से कम अंग्रेजी के 10 शब्द रोज याद करने की आदत होनी चाहिए। गणित विषय में प्रति दिन अभ्यास करने की जरूरत होती है। इन बिन्दुओं पर ध्यान देकर लक्ष्य प्राप्त करने की राह को आसान किया जा सकता है।

महाविद्यालय बैढऩ में नि:शुल्क कोचिंग के शुभारंभ के मौके पर कलेक्टर कोचिंग में प्रवेश के बावत चयनित छात्र-छात्राओं को संबोधित कर रहे थे। कलेक्टर के अलावा सहायक कलेक्टर संघप्रिय ने भी छात्र-छात्राओं को सफलता का मूलमंत्र दिया। इस मौके पर प्राचार्य एमयू सिद्दीकी, प्रो. निरपत प्रजापति, वीणा तिवारी, आरके झा, एसी शुक्ला व चंद्र प्रभा वर्मा सहित अन्य प्राध्यापक उपस्थित रहे।

Ajeet shukla
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned