लापरवाही पर डिग्घी व पिपराझापी के सचिवों पर 5000 रुपए का जुर्माना

कई का मानदेय कटा

सिंगरौली. कार्य में लापरवाही बरतने वाले ग्राम पंचायत सचिवों व सरपंचों पर कार्रवाई का सिलसिला जारी है। गुरुवार को फिर से कलेक्टर केवीएस चौधरी ने आधा दर्जन सहित सचिवों सहित एक सरपंच पर कार्रवाईकरने का निर्देश जारी किया है। कलेक्टर ने ग्राम पंचायत डिग्घी व पिपराझापी के सचिवों पर ५-५ हजार रुपए का जुर्माना लगाने का निर्देश दिया है।

इसके अलावा कई सचिवों का मानदेय काटने को कहा। इतना ही नहीं कथुरा सरपंच पर धारा ४० के तहत नोटिस जारी करने का निर्देश भी जारी किया गया। कलेक्टर की ओर से यह कार्रवाई पीडीएस भवनों के निर्माण सहित अन्य कार्यों में लापरवाही बरतने के मद्देनजर किया गया है। ग्राम पंचायत कथुरा के सरपंच की ओर से स्वीकृत कार्यों में लापरवाही बरती गई है।

जनपद पंचायत बैढऩ सभागार में आयोजित पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की बैठक में कलेक्टर ने पीडीएस भवन, आंगनबाड़ी व स्कूलों के भवन निर्माण कार्य की समीक्षा की। उन्होंने इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास निर्माण, स्वच्छ भारत मिशन व मनरेगा के तहत स्वीकृत निर्माण कार्यों की पड़ताल की। इन कार्यों में लापरवाही पाने पर उनकी ओर से कार्रवाई करने का आदेश दिया गया। इसके अतिरिक्त कलेक्टर ने कई अन्य बिन्दुओं पर पड़ताल की और जिम्मेदारीपूर्ण तरीके से कार्य कराने का निर्देश दिया।

कई के मानदेय में कटौती का निर्देश
कलेक्टर ने पूर्व में मनरेगा के तहत खेत तालाब, मेड़ बंधन व कूप निर्माण सहित अन्य निर्माण कार्यों को कराए जाने का निर्देश दिया था। बैठक में कार्य कराया जा रहा है या नहीं, इस बारे में भी पूछताछ की गई।सचिवों व रोजगार सहायकों के द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप कार्य नहीं कराए जाने पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त की और बनौली, खनुआ टोला, कथुरा, सासन, गड़हरा, गोरा, धनगड़, सिगाही, करामी व गोभा के सचिवों व रोजगार सहायकों का मानदेय काटने के साथ कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्देश दिया।

कलेक्टर ने यह निर्देश भी दिया
- वनमित्र पोर्टल पर 26 जनवरी को हुई ग्राम सभा का विवरण अपलोड किया जाए।
- स्वच्छ भारत मिशन के तहत अधूरे पड़े शौचालयों को पूर्णरूप से तैयार किया जाए।
- ग्रामीण अंचल के प्रधानमंत्री आवासों को हर हाल में 31 मार्च तक पूरा कराया जाए।
- पंचायतों में मेड़ बंधन, खेत तालाब, कूप निर्माण के साथ अन्य कार्यकराए जाएं।
- खाद्यान पर्ची का भौतिक सत्यापन बाकी रह गया पंचायतों में पूरा कराया जाए।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned