कार्य में लापरवाही बरतने पर सात कर्मचारियों को कलेक्टर ने किया निलंबित

14 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस ....

By: Ajeet shukla

Published: 05 May 2021, 08:51 PM IST

सिंगरौली. कोरोना आपदा में भी अधिकारी व कर्मचारी ड्यूटी में लापरवाही से बाज नहीं आ रहे हैं। कलेक्टर ने लापरवाही को गंभीरता से लेते हुए 7 कर्मचारियों को निलंबित किया है। वहीं 14 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

कलेक्टर राजीव रंजन मीना द्वारा निलंबित किए गए कर्मचारियों में शामिल डीके सिंह सहायक यंत्री नगर पालिक निगम, आरआरटी क्षेत्र वार्ड क्रमांक 12 से 19 अपने कार्य पर अनुपस्थित रहे। रघुनाथ चौधरी, प्रधानाध्यापक को चेक पोस्टम जयंत, रामाधार रजक माध्यमिक शिक्षक चेक पोस्टग जयंत, अनिल कुमार सिंह वनरक्षक चेक पोस्टो जयंत, संजीव बैगा प्राथमिक शिक्षक चेक पोस्ट गनियारी आउटर, निर्दोष टोप्पो प्राथमिक शिक्षक चेक पोस्टम गनियारी आउटर व प्रदीप कुमार पाण्डेय वनरक्षक चेक पोस्ट गनियारी आउटर को ड्यूटी पर नहीं पाया गया। कलेक्टर के भ्रमण के दौरान संबंधित कर्मचारी अपने कर्तव्य स्थल पर अनुपस्थित पाए गए। इसलिए उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

इन अधिकारियों को जारी हुआ कारण बताओ नोटिस
नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते प्रभाव एवं प्रसार के रोकथाम एवं आवश्यक सहायोग प्रदान नही करने एवं स्वेच्छा पूर्वक मुख्यासलय से बाहर रहने एवं कार्य में लापरवाही बरतने पर रोहिणी प्रसाद पाण्डेय जिला शिक्षा अधिकारी, आशीष पाण्डेय उप संचालक किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग, बीएस मरावी कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग संभाग, एके सिंह घोष सहायक प्रबंधक पीएमजीएसवाइ, जेएल सिंह उपयंत्री लोक निर्माण विभाग, अवधेश शर्मा उपयंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग, संजय सिंह उपयंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग, एआर मंसूरी महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र, मसूद अहमद सहायक संचालक मत्यस्य विभाग, विकास पाण्डेय अनुविभागीय अधिकारी जल संसाधन, राजेश राम गुप्ता जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग, लवकुश सिंह सहायक संचालक किसान कल्याण एवं कृषि विभाग, मनोज सिंह सहायक भू-संरक्षण अधिकारी कृषि विभाग देवसर को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए जबाव मांगा गया है ।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned