महकमें को सता रही स्वास्थ्य कर्मियों की चिंता, जानिए क्या है वजह

एलोपैथ से लेकर आयुर्वेद व होम्योपैथिक दवा लेने का सुझाव......

By: Amit Pandey

Updated: 06 Apr 2020, 09:02 PM IST

सिंगरौली. भोपाल व इंदौर में चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ में कोरोना का पॉजिटिव मिलने पर जिले का स्वास्थ्य अमला दहशत में है। आलम यह है कि महकमें को स्वास्थ्य कर्मियों की चिंता सता रही है और चिकित्सक सहित पैरामेडिकल स्टाफ को प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए दवाओं का सेवन करने की सलाह दी जा रही है। एलोपैथ से लेकर आयुर्वेद व होम्योपैथिक दवा लेने का सुझाव दे रहे हैं। एेसा इसलिए कि यहां के चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ इस महामारी से बच सकें। बताया जा रहा है कि इन दिनों कोरोना महामारी को लेकर आयुष विभाग व जिला प्रशासन स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट करते हुए तीनों विधाओं में दवाओं का सुझाव दिया है। देखा जाए तो भोपाल व इंदौर में चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ सहित अधिकारी भी कोरोना से संक्रमित मिले हैं। इसलिए यहां भी स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से सतर्क हो गया है क्योंकि कोरोना का संक्रमण न जाने कब किसको चपेट में ले लेगा। जिस वजह से जिले का स्वास्थ्य अमला सावधानियां बरत रहा है और कोरोना से बचने के लिए चिकित्सक व स्टाफ को भी निर्देशित कर रहे हैं।

अधिकारी भी कर रहे दवाओं का सेवन
प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य अधिकारी भी आयुष व जिला प्रशासन के निर्देश पर दवाओं का सेवन कर रहे हैं। इससे यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि यहां के स्वास्थ्यकर्मी महामारी के संक्रमण से बचे हैं। राहत की बात यह है कि जिले में कोरोना के एक भी संक्रमित नहीं हैं और जिला सुरक्षित है। वैसे देखा जाए तो जिले से अब तक में कोरोना के संदिग्धों का भेजा गया सेंपल की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए यह एक अच्छी खबर है जो कि जिले में कोरोना के एक भी संक्रमित नहीं हैं।

Amit Pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned