स्वच्छता सर्वेक्षण की तैयारी में झोंकी ताकत, फिर भी अधूरे रह गए दो प्रमुख मानक

आकलन करने अगले महीने आएगी टीम....

सिंगरौली. स्वच्छता सर्वेक्षण में अव्वल स्थान पाने के लिए नगर निगम अधिकारियों ने पूरी ताकत झोंक दी है लेकिन अभी दो ऐसे मानक पूरे नहीं हो सके हैं, जो सर्वेक्षण के मानकों में प्रमुख हैं। हालांकि इसके बावजूद अधिकारी तैयारी को बेहतर और पर्याप्त मान रहे हैं। उन्हें दरकार तो केवल आमजन से, जो शहर को स्वच्छ बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

नगर निगम अधिकारियों के मुताबिक स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए आने वाली टीम चार बिन्दुओं पर प्रमुखता से गौर फरमाती है। यह प्रमुख बिन्दु कचरा संग्रहण, निष्पादन, शौचालय व सीवर और सूचना व क्षमता विकास हैं। अधिकारियों को दावा है कि इन चारों प्रमुख बिन्दुओं के मद्देनजर सर्वेक्षण की पूरी तैयारी कर ली गई है। इन चारों बिन्दुओं में दो कार्य ऐसे हैं, जिनको सर्वेक्षण से पहले पूरा कर पाना अब मुमकिन नहीं है। इन दो में एक सीवरेज व्यवस्था और दूसरी साइंटिफिक लैंड फिल योजना है। यह दोनों कार्य किया जाना बाकी है। सर्वेक्षण शुरू होने में बचे चंद दिन इन दोनों ही कार्यों को पूरा करने के लिए अपर्याप्त हैं।

अधिकारियों का कहना है कि सीवरेज व्यवस्था से संबंधित कार्य वर्तमान में जारी है, लेकिन इसे पूरा होने में अभी वक्त लगेगा। यह बात और है कि साइंटिफिक लैंड फिल योजना अभी कागज तक ही सीमित है।गौरतलब है कि यह योजना ऐसे कचरे के लिए है, जिसका उपयोग दूसरे कार्यों में नहीं किया जा सकता है। ऐसे कचरे के निष्पादन के लिए विशेष तकनीकी की जरूरत होती है। जिसकी व्यवस्था किया जाना अभी बाकी है। इन सब के बावजूद अधिकारी अव्वल स्थान पाने का दावा कर रहे हैं।

जनवरी में आएगी टीम, दो बार होगा सर्वे
स्वच्छता सर्वेक्षण के मद्देनजर दिल्ली की टीम यहां पांच से 30 जनवरी के बीच आएगी। अधिकारियों के मुताबिक दो अलग-अलग टीम अलग-अलग समय पर यहां नगर निगम क्षेत्र का भ्रमण कर दावों की पुष्टि करेगी। एक टीम स्वच्छता के मद्देनजर सर्वेक्षण करेगी तो दूसरी टीम शहरी क्षेत्र को फाइव स्टार की रैंक देने को लेकर आकलन करेगी।गौरतलब है कि वर्तमान में जिले को थ्री स्टार की श्रेणी में रखा गया है। निगम अब फाइव स्टार के लिए आवेदन कर रहा है।

सर्वेक्षण के मद्देनजर निर्धारित तिथियां
05 दिसंबर तक एमआइएस अपलोड करना है।
12 दिसंबर तक फाइव स्टार के लिए आवेदन।
20 दिसंबर तक सर्वेक्षण का डेटा भेजना है।
25 दिसंबर तक सभी दस्तावेज भेजने हैं।
04 जनवरी से सर्वेक्षण का कार्य शुरू होगा।

Ajeet shukla
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned