कंपनियों की आर्थिक मदद से बनेगा तीन नया खेल मैदान

संबंधित विभाग को प्रस्ताव दिया निर्देश .....

By: Ajeet shukla

Published: 12 Nov 2020, 11:43 PM IST

सिंगरौली. खेल मैदान का अभाव झेल रहे ग्रामीण अंचल के खिलाडिय़ों के लिए राहत भरी खबर है। जिले के देवसर विकासखंड में डगा, बरगवां व चितरंगी में जल्द ही खेल मैदान बनाया जाएगा। इसके बाद वंचित अन्य क्षेत्रों में भी खेल मैदान की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। फिलहाल भी देवसर में तीन खेल मैदान के लिए कलेक्टर ने प्रस्ताव मांगा है। यह खेल मैदान कंपनियों के सीएसआर मद से तैयार किया जाएगा।

कलेक्टर ने विभागीय अधिकारियों से जल्द से जल्द प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत करने को कहा है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान कलेक्टर ने कहा कि प्रस्ताव तैयार करने में देरी नहीं होनी चाहिए। कलेक्टर ने इसके अलावा सड़क निर्माण के लिए चयनित किए गए स्थल का भी प्रस्ताव तैयार करने को कहा है। उन्होंने कहा कि 50 लाख रुपए तक के बजट से निर्मित होने वाले विकास कार्यों की कार्य योजना सभी विभाग तैयार रखें।

कलेक्टर समय सीमा की बैठक में सभी विभागों के कार्यों की समीक्षा की। कहा कि विभागीय अधिकारी समय सीमा के अंदर निराकृत किए जाने वाले आवेदन पत्रों का संतुष्टि पूर्वक निराकरण करें। धान उपार्जन के लिए अब तक की गई व्यवस्थाओं की जानकारी लेने के बाद कलेक्टर ने कहा कि सभी जिम्मेदार विभागों के अधिकारी उपार्जन केंद्रों पर नजर रखें। किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होने पाए।

दीपावली त्यौहार को मद्देनजर कलेक्टर ने सभी उपखंड अधिकारियों सहित निगम अधिकारियों को निर्देश दिया कि कोरोना से सुरक्षा के मद्देनजर सभी गाइड लाइन का पालन कराना सुनिश्चित किया जाए। इसी प्रकार कलेक्टर की ओर से विभागीय अधिकारियों को अन्य कई निर्देश दिए। बैठक में सीइओ जिला पंचायत साकेत मालवीय, संयुक्त कलेक्टर व्हीबी पाण्डेय, निगमायुक्त आरपी सिंह, एसडीएम ऋषि पवार, डिप्टी कलेक्टर संपदा सर्राफ, तहसीलदार जीतेंद्र वर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

बैठक में यह निर्देश भी हुए जारी
- पटाखों की दुकानों के बीच तीन फीट की दूरी आवश्यक।
- दुकानों में दुर्घटना से सुरक्षा के पूरे इंतजाम होने चाहिए।
- बिना मास्क के बाहर निकलने वालों पर कार्रवाई जारी रखें।
- लंबित प्रकरणों का प्राथमिकता के तौर पर निराकरण करें।
- पीएम किसान निधि के हितग्राही को योजना का लाभ दें।
- शहरी क्षेत्र में अतिक्रमण व भू-माफिया पर कार्रवाई करें।
- नीति आयोग के निर्धारित मानक के अनुरूप कार्य करें।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned