खदानों से निकलने के पहले होगी वाहनों की तौल, अतिरिक्त बॉडी हटाने की भी हिदायत

सीधी की घटना के बाद कोल खदानों में सख्ती ....

By: Ajeet shukla

Published: 21 Feb 2021, 11:11 PM IST

सिंगरौली. जिले में सीधी जैसी कोई घटना नहीं हो। इस उद्देश्य को लेकर जिला प्रशासन हर तरह से चौकन्ना है। एक ओर जहां वाहनों की जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है। वहीं दूसरी ओर कलेक्टर की ओर से एक साथ कई तरह की पाबंदी भी लगाई गई है।

आनन-फानन में कोल ट्रांसपोर्टरों, मोटर मालिकों व कंपनी अधिकारियों की बैठक बुलाकर कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने निर्धारित नियमों का हर हाल में पालन किए जाने की हिदायत दी है। कलेक्ट्रेट सभागार में शुक्रवार को देर शाम तक चली बैठक में कलेक्टर ने लगाई गई पाबंदी से अवगत कराते हुए सभी को निर्देशों का पालन करने को कहा है।

जिला प्रशासन व पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वह नियमों का कड़ाई से पालन कराएं। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई करें। कलेक्टर ने उम्मीद जताया कि नियमों का पालन करने की स्थिति में सड़क दुर्घटनाओं से बड़ी राहत मिलेगी। बैठक में कलेक्टर व एसपी बीरेंद्र कुमार सिंह के अलावा अन्य अधिकारी और कंपनियों के अधिकारी, ट्रांसपोर्टर व मोटर मालिक उपस्थित रहे।

कलेक्टर ने जारी किया निर्देश
- मालवाहक वाहनों में निर्धारित भार क्षमता से ही माल परिवहन किया जाए।
- सभी तरह के व्यावसायिक वाहनों का फिटनेस हर हाल में जारी किया जाए।
- सभी मालवाहक व यात्री वाहनों का परिवहन निर्धारित रूट पर ही किया जाए।
- कोयला व फ्लाइऐश वाहनों को वजन के बाद ही खदानों से निकाला जाए।
- डंपर व हाइवा जैसे वाहनों में लगाई गई अतिरिक्त बॉडी को हर हाल में हटाएं।
- वाहन चाहे जो भी हों, चालकों से अधिकतम 8 घंटे ही काम लिया जाए।
- कोयला व रेत परिवहन करने वाले वाहनों को पूरी तरह से त्रिपाल से ढकें।
- कोल परिवहन वाले मार्ग में नियमित रूप से हर हाल पानी का छिड़काव करें।
- क्षमता से अधिक माल या सवारी परिवहन करने वाले वाहनों की जब्ती की जाए।
- वाहन चालकों का नियमित रूप से नेत्र परीक्षण करने के लिए शिविर लगाएं।
- शहर को भारी वाहनों के आवागमन से मुक्त रखने बनेगा गनियारी बायपास।
- सभी मुख्य मार्गों पर वाहन को खड़ा करने के लिए ले बाय बनाया जाए।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned