मिली मोहलत में हर घर तक पानी पहुंचाना नहीं है मुमकिन

रहवासियों को अभी करना होगा लंबा इंतजार ....

By: Ajeet shukla

Published: 07 Mar 2020, 10:36 PM IST

सिंगरौली. हर घर में पेयजल की आपूर्ति 20 मार्च तक शुरू हो जानी चाहिए। नगर निगम को कलेक्टर की ओर से भले ही यह डेडलाइन दी गई है, लेकिन अधिकारियों के लिए यह फिलहाल यह मुमकिन नहीं जान पड़ रहा है। क्योंकि पेयजल आपूर्ति के लिए अभी ढेरों काम बाकी हैं। हर घर तक पानी पहुंचाने से पहले अधिकारियों को ढेरों मोहल्लों में पाइप लाइन बिछाने सहित अन्य कार्य पूरा कराना होगा।

पेयजल आपूर्ति योजना के तहत फिल्टर प्लांट तैयार होने के बाद आनन-फानन में पंचायत मंत्री कमलेश्वर पटेल व जिले के प्रभारी मंत्री प्रदीप जायसवाल ने भले ही शुभारंभ कर दिया है, लेकिन बैढऩ की जनता को अभी पेयजल नसीब नहीं हो सका है। हालांकि निगम के अधिकारियों ने एड़ीचोटी का जोर लगा दिया है। पूरी कोशिश है कि रहवासियों के लिए जल्द से जल्द पेयजल की आपूर्ति पाइप लाइन के जरिए शुरू कर दी जाए।

अभी बाकी है दो बड़ा काम
अधिकारियों के मुताबिक पूरे बैढऩ जोन में जलापूर्ति शुरू करने के लिए अभी निगम को दो बड़े कार्य करने होंगे। पहला माजन मोड़ से नवानगर और माजन मोड़ से नौगढ़ रूट पर मुख्य पाइप लाइन बिछाने का कार्य किया जाना है। दूसरा कार्य मुख्य पाइप लाइन से मोहल्लों को जोडऩा। बता दें कि अभी एक दर्जन से अधिक मोहल्लों में पाइप लाइन बिछाने और मुख्य पाइप लाइन से जोडऩे का कार्य बाकी है।

उपलब्ध कराया गया 8 करोड़ रुपए
101.83 करोड़ की इस पेयजल योजना का बचा कार्य पूरा करने के लिए डीएमएफ से आठ करोड़ रुपए अभी हाल में उपलब्ध कराया गया है। इसके अलावा शासन स्तर से भी तीन करोड़ रुपए की स्वीकृति मिल गई है। अधिकारियों का दावा है कि जल्द ही वह बाकी रह गए कार्य को पूरा करा देंगे। निगम से इस कार्य के लिए पहले भी डीएमएफ मद से 25 करोड़ रुपए दिया जा चुका है।

25 हजार घरों में पहुंचाना है पानी
अमृत योजना के तहत वर्ष 2015 में शुरू की गई इस योजना के जरिए नगर निगम क्षेत्र के 40 हजार घरों में पेयजल पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। मोरवा जोन में आपूर्ति शुरू कर दी गई है, लेकिन बैढऩ जोन में योजना को अभी अंतिम रूप दिया जाना बाकी है। अधिकारियों के मुताबिक यहां बैढऩ सहित आस-पास के जोन में करीब 25 हजार घरों में पानी पहुंचाना है।

फैक्ट फाइल
- वर्ष 2015 में शुरू हुआ जल प्रदाय योजना का कार्य।
- बैढऩ जल प्रदाय योजना की क्षमता 43.6 एमएलडी।
- करीब 8 हजार से अधिक घरों में नल कनेक्शन हो चुका।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned