scriptTake a lesson from Indore incident, city is situated at mouth of gunpo | जनाब! इंदौर की घटना से ले लो सबक, बारूद के मुहाने पर बसा है शहर | Patrika News

जनाब! इंदौर की घटना से ले लो सबक, बारूद के मुहाने पर बसा है शहर

बलियरी में संचालित हैं दर्जनभर फैक्ट्रियां, बीच शहर से हो रहा परिवहन
फैक्ट्रियों को शिफ्ट करने की 12 वर्ष बाद भी पूरी नहीं हुई कवायद

सिंगरौली

Published: May 09, 2022 12:13:11 am

सिंगरौली. जनाब.... इंदौर की घटना से सबक लें। वैसे तो वहां घटना की वजह शार्ट सर्किट बताई जा रही है, लेकिन यहां यह भूलना ठीक नहीं होगा कि पूरा शहर बारूद के मुहाने पर बसा है। संचालित हो रही दर्जनभर फैक्ट्रियों में शहर के बीचोबीच विस्फोटक पदार्थ का परिवहन किया जा रहा है। कभी भी दिल दहलाने वाली घटना हो सकती है।
Explosive loaded Vehicles pass at high speed in market, can accident
Explosive loaded Vehicles pass at high speed in market, can accident
बारूद फैक्ट्रियों को अन्यत्र शिफ्ट करने की कवायद 12 वर्ष बाद भी पूरा नहीं हुआ। ऐसे में शहर को सुरक्षित कैसे मान सकते हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं बलियरी स्थित संचालित उन बारूद फैक्ट्रियों की। जो करीब बारह वर्ष पहले हुए विस्फोट से 22 श्रमिक शहीद हुए थे और 120 घायल हो गए थे। इस बीच एक हैरान कर देने वाली बात यह है कि इन फैक्ट्रियों में बारूद का परिवहन घनी आबादी वाले क्षेेत्र से हो रहा है। अंबेडकर चौक स्थित पूरा बाजार संचालित है।
तुलसी मार्ग, काली मंदिर रोड सहित बस स्टैंड के ठीक पास से होकर विस्फोटक पदार्थ लेकर वाहन तेज रफ्तार से निकलते हैं। यदि इस दौरान कोई हादसा हो गया तो पूरा शहर तबाह हो जाएगा। इसलिए प्रशासन को इस गंभीर समस्या की ओर समय रहते गौर फरमाने की जरूरत है। यदि ऐसा नहीं किया तो इंदौर में हुई आगजनी की घटना में सात लोगों की मौत की पुनरावृत्ति यहां शहर में होने से इंकार नहीं किया जा सकता है।
मुख्य बाजार से परिवहन
बलियरी में संचालित बारूद फैक्ट्रियों में विस्फोटक पदार्थों का परिवहन बैढऩ में मुख्य बाजार के बीच से होता है। जिससे बड़ी घटना का खतरा बना रहता है। गौरतलब है कि बारूद फैक्ट्रियां जिले में संचालित कोयला कंपनियों को विस्फोटक पदार्थ उपलब्ध कराती हैं। जिले में नई कोयला कंपनियों के आने पर यहां विस्फोटक पदार्थों की मांग बढ़ गई है। जाहिर है इस स्थिति में खतरा और बढ़ गया है।
फैक्ट्रियों को शिफ्ट करना भूले
फैक्ट्रियों को बरगवां में चिह्नित औद्योगिक क्षेत्र में शिफ्ट किया जाना है। औद्योगिक क्षेत्र के लिए बरगवां के डगा, गड़ेरिया, फुलवारी व बाघाडीह में 200 हेक्टेयर जमीन को विकसित करने की योजना बनाई गई है लेकिन फैक्ट्रियों की शिफ्टिंग की कवायद अधर में है। इधर बारूद परिवहन शहर से दिन भर जारी है। इस दौरान आप इस रास्ते से सुरक्षित निकलने की कल्पना नहीं कर सकते हैं।
संचालित हो रही फैक्ट्रियां
- आइडियल एक्सप्लोसिव बारूद फैक्ट्री
- ब्लास्टिक प्राइवेट इंडिया लिमिटेड
- सोलर इंडस्ट्रियल इंडिया लिमिटेड
- प्रीमियर एक्सप्लोसिव प्राइवेट लिमिटेड
- केईएल एक्सप्लोसिव लिमिटेड
- रीवा केमिकल
- रीवा गैसेज
- बैढऩ इंजीनियरिंग

फैक्ट फाइल:--
नगर निगम में दमकल वाहन - 04
कंपनियों में दमकल की संख्या - 12
शहर की कुल आबादी - 3.30 लाख
संचालित हो रही फैक्ट्रियोंं की संख्या - 11
बारूद परिवहन करने वाले वाहनों की संख्या - 50
परिवहन के दौरान घनी आबादी वाला क्षेत्र - 07

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.