बाहर का रास्ता देखेंगे उत्कृष्ट विद्यालयों में वर्षों से जमे मास्साब

डीइओ ने बुलाया कार्यालय....

By: Ajeet shukla

Updated: 03 Jan 2019, 10:59 PM IST

सिंगरौली. जिले के शासकीय उत्कृष्ट विद्यालयों में वर्षों से जमे शिक्षकों को अब बाहर का रास्ता देखना होगा। उन्हें काउंसिलिंग के जरिए दूसरे विद्यालयों में भेजा जाएगा। जिला शिक्षा अधिकारी की ओर से काउंसिलिंग की तिथि तय करने के साथ इस बावत पूरी योजना तैयार कर ली गई है।

शिक्षा अधिकारी के मुताबिक उत्कृष्ट विद्यालयों से दूसरे विद्यालयों को भेजे जा रहे शिक्षकों (वरिष्ठ अध्यापक, अध्यापक, लेक्चरर व यूटीडी) में वह लोग शामिल हैं, जो पिछले वर्ष उत्कृष्ट विद्यालयों में पदस्थापना के लिए आयोजित कराई गई परीक्षा में सफल नहीं हो सके हैं। परीक्षा के माध्यम से सफल शिक्षकों की उत्कृष्ट विद्यालयों में पदस्थापना की गईहै। उसके बाद अब असफल शिक्षकों को वहां से बाहर निकाला जा रहा है। बाहर निकाले गए शिक्षकों का दूसरे विद्यालय में पदांकन होगा।

डीइओ कार्यालय बुलाए गए शिक्षक
काउंसिलिंग के बावत जिला शिक्षा अधिकारी ने संबंधित शिक्षकों को डीइओ कार्यालय बुलाया है। चार जनवरी को सुबह ११ बजे शिक्षक डीइओ कार्यालय में उपस्थित होकर नई पदस्थापना के लिए विद्यालयों का विकल्प देंगे। विकल्प के आधार पर विद्यालयों में रिक्त पदों में शिक्षकों की पदस्थापना की जाएगी।

शैक्षणिक गुणवत्ता बढ़ाने हुआ उलटफेर
शिक्षा विभाग की ओर से उत्कृष्ट विद्यालयों में पूर्व पदस्थ शिक्षकों को हटाने और परीक्षा के माध्यम से नए शिक्षकों के नियुक्ति की कवायद की गई है। पिछले वर्ष यह कवायद उत्कृष्ट विद्यालयों की शैक्षणिक गुणवत्ता बढ़ाने को लेकर शुरू की गई थी, जो अब पूरी होने जा रही है।

सूची में शामिल हैं ये शिक्षक
काउंसिलिंग के लिए बुलाए गए शिक्षकों में कुल १४ लोग शामिल हैं।इनमें प्रमोद तिवारी, प्यारेलाल, रजनीश तिवारी, विश्वेश्वर सिंह, बी.सिंह, पवन कुमार तिवारी, फूलचंद सिंह, लगन धारी यादव, राजलाल कुशवाहा, रमाशंकर, रामपाल सिंह व दिवाकर सिंह सहित अन्य को डीइओ कार्यालय बुलाया गया है।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned