scriptThe pace of paddy procurement is still sluggish in Singrauli | धान खरीदी की रफ्तार अभी सुस्त | Patrika News

धान खरीदी की रफ्तार अभी सुस्त

केवल चंद केंद्रों पर शुरू हुई खरीदी ....

सिंगरौली

Updated: December 07, 2021 12:38:47 am

सिंगरौली. कहने को तो खरीदी के लिए केंद्रों पर हर रोज 20 किसान बुलाए जा रहे हैं, लेकिन समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की रफ्तार अभी सुस्त है। आलम यह है कि 29 नवंबर से धान की खरीदी शुरू है। करीब एक सप्ताह बीतने को है, लेकिन अभी तक केवल 1711 क्विंटल धान की खरीदी हो पाई है। सहकारिता विभाग के अधिकारियों के मुताबिक धान खरीदी के लिए जिले में कुल 51 केंद्र बनाए गए हैं।
The pace of paddy procurement is still sluggish in Singrauli
The pace of paddy procurement is still sluggish in Singrauli
इनमें से अभी तक केवल 7 केंद्रों पर खरीदी शुरू हो सकी है। बाकी के केंद्रों पर अभी किसानों का इंतजार किया जा रहा है। अधिकारियों का कहना है कि हर रोज 15 छोटे किसान और 5 बड़े किसानों को भोपाल स्तर से किसानों के मोबाइल पर संदेश भेज कर उन्हें केंद्र पर बुलाया जाता है, लेकिन केंद्र पर किसानों के पहुंचने का सिलसिला अभी धीमा है। इसके पीछे कई वजह बताई जा रही है।
धान खरीदी की सुस्त रफ्तार के पीछे अधिकारियों का कहना है कि एक तो अभी किसान फसल तैयार करने में जुटे हैं। वहीं दूसरी ओर ऐसे किसानों की संख्या काफी अधिक है, जिनके द्वारा दिया गया मोबाइल नंबर सहित अन्य विवरण गलत है। यही वजह है कि किसानों को भोपाल से भेजा जाने वाला संदेश नहीं मिल पा रहा है और किसान धान की बिक्री करने केेंद्रों पर नहीं पहुंच पा रहे हैं।
बैंक खाता से लिंक होगा आधार
इस समस्या को देखते हुए वर्तमान में किसानों द्वारा दिए गए विवरण को दुरुस्त करने और उनका मोबाइल नंबर व आधार नंबर बैंक खाते से लिंक करने का कार्य चल रहा है। बताया गया कि जब तक किसानों का आधार व मोबाइल नंबर बैंक खाता से लिंक नहीं हो जाता है, किसानों द्वारा उपज की बिक्री कर पाना व उनका भुगतान हो पाना संभव नहीं होगा।
24072 किसान बिक्री के लिए पात्र
जिला प्रशासन द्वारा कराए गए सत्यापन में जिले के 24072 किसानों को खरीदी के लिए पात्र माना गया है। इन सभी से 32 हजार रकबा की उपज खरीदी जाएगी। इनमें से करीब साढ़े 7 हजार किसानों का विवरण गलत बताया जा रहा है। जिसे दुुरुस्त करने की प्रक्रिया शुरू है। गौरतलब है कि इस बार करीब 27 हजार किसानों ने उपज की बिक्री के लिए पंजीयन कराया था। सत्यापन के बाद करीब ढाई हजार किसानों का पंजीयन निरस्त कर दिया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.