दो दिनों तक रहेगा लॉकडाउन, अब सोमवार को होगा अनलॉक

शाम ढलते ही सक्रिय हो गई पुलिस, बंद कराई गई दुकानें ....

By: Ajeet shukla

Published: 09 Apr 2021, 11:58 PM IST

सिंगरौली. कोरोना संक्रमण से सुरक्षा और जिला प्रशासन की ओर से जारी आदेश के मद्देनजर शनिवार व रविवार को दो दिनों के लिए लॉकडाउन रहेगा। अब लॉकडाउन की पाबंदियां सोमवार की सुबह 6 बजे के बाद हटेंगी। शुक्रवार को शाम छह बजते ही पुलिस सक्रिय हो गई और दुकाने बंद करा दी गई। पूरे एक वर्ष बाद शुक्रवार की शाम फिर से सड़कों पर सन्नाटा पसरा नजर आया।

कलेक्टर राजीव रंजन मीना की ओर से जारी निर्देशों के अनुरूप नगर निगम सीमा क्षेत्र में शाम ढलते ही दुकान बंद हो गई। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद करा दिया गया। लॉकडाउन से ठीक पहले कलेक्टर ने एनसीएल व एनटीपीसी सहित अन्य कंपनियों व प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की और आवश्यक निर्देश दिया।

कलेक्टर ने कहा कि लॉकडाउन सहित कोरोना से सुरक्षा के मद्देनजर जारी गाइड लाइन का सख्ती से पालन होना चाहिए। इसके लिए पुलिस व प्रशासन के अधिकारी आपस में सामंजस्य बना कर कार्य करें। कलेक्टर ने इसके अलावा अन्य कई निर्देश जारी किया। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक बीरेंद्र कुमार सिंह व सीइओ जिला पंचायत साकेत मालवीय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

रोजाना होम आइसोलेट मरीजों से करें बात
कलेक्टर ने बैठक के दौरान एनसीएल व एनटीपीसी सहित अन्य कंपनियों के अधिकारियों से कहा कि वह अपने क्षेत्रों में आरआरटी टीम का गठन करें। साथ ही बाहर से आए लोगों को होम क्वारंटीन करें। उन्होंने कहा कि कंपनी के अधिकारी होम आइसोलेट मरीजों की निगरानी के लिए चिकित्सकों की नियुक्ति करें और चिकित्सकों को निर्देश दें कि वह होम क्वारंटीन में रहने वालों से बात करें। साथ ही कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज कराएं। कंपनियों के अस्पताल में भी कलेक्टर ने इलाज का उचित बंदोबस्त करने को कहा।

मरीजों को मिलेगा ऑक्सी थर्मामीटर
कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग व कंपनी प्रतिनिधियों को निर्देशित किया है कि वह उन कोरोना संक्रमित मरीजों को ऑक्सीजन व तापमान की जांच के लिए थर्मामीटर व ऑक्सीमीटर उपलब्ध कराएं, जो होम आइसोलेशन में हैं। साथ ही आइसोलेट मरीजों को यह बताएं कि वह ऑक्सीजन का स्तर लगातार चेक करते रहें और ऑक्सीजन का स्तर कम होने की स्थिति में तत्काल चिकित्सकों से संपर्क कर अस्पताल में भर्ती हो और अपना इलाज कराएं। चिकित्सकों को निर्देश है कि वह होम आइसोलेट कोरोना पॉजिटिव मरीजों से हर रोज बात करें और उनकी सेहत की जानकारी लें।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned