हाइवा का केबिन गिरने से दब गया श्रमिक, इलाज के लिए अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत

वीपीआर कंपनी के श्रमिक के साथ हुआ हादसा .....

By: Ajeet shukla

Published: 20 Jul 2020, 11:15 PM IST

सिंगरौली. एनसीएल की दुद्धिचुआ परियोजना में ओबी हटानेे का काम कर रही वीपीआर कंपनी के एक श्रमिक की सोमवार को हुए हादसे में दर्दनाक मौत हो गई। हादसे में कंपनी के अधिकारियों की लापरवाही मानी जा रही है। आरोप है कि गैर प्रशिक्षित श्रमिक को तकनीकी काम में लगा दिया गया था, जिससे यह हादसा हुआ।

हादसे के वक्त मौजूद श्रमिकों की माने तो जिस कर्मचारी की मौत हुई वह डोजर हेल्पर था, लेकिन उसकी ड्यूटी हाइवा का केबिन उतारने में लगा दी गई। तकनीकी जानकारी के अभाव में केबिन श्रमिक पर आ गिरा और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलने पर मोरवा थाने की पुलिस मौके पर पहुंची थी।

मोरवा थाना क्षेत्र के एनसीएल की दुद्धीचुआ खदान में हुई घटना के संबंध में पुलिस ने बताया कि हादसे के बाद श्रमिक सुनील कुमार रजक बुरी तरह घायल हो गया था। आनन-फानन में कंपनी के अधिकारी उपचार के लिए उसे लेकर नेहरू चिकित्सालय पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने सुनील कुमार को मृत घोषित कर दिया।

श्रमिक की मौत उसके बाद काम कर रहे श्रमिकों के साथ परिजनों तक पहुंची तो वहां हंगामा खड़ा हो गया। पुलिस ने जैसे-तैसे मामला शांत कराया। श्रमिक की मौत के बाद गुस्साए परिजनों व श्रमिकों ने कंपनी प्रबंधन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। श्रमिक स्थानीय निवासी बताया जा रहा है।

मेंटिनेंस बरती जा रही लापरवाही
श्रमिकों का आरोप है कि ओबी कंपनियों में काम कर रहे श्रमिक सुरक्षित नहीं हैं। क्योंकि यहां मेंटिनेंस में लापरवाही बरती जा रही है। किसी की भी ड्यूटी कहीं भी किसी भी कार्य में लगा दी जाती है। इससे हर पल हादसे का खतरा बना रहता है।

एक महीने में हुई तीसरी घटना
एनसीएल की परियोजनाओं में एक महीने के भीतर यह तीसरी घटना है। इससे पहले जयंत और निगाही में घटना हुई। निगाही में हुई घटना में एक डंपर चालक की मौत हो गई थी और एक चालक बुरी तरह से घायल हो गया था।

Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned