STORY : पौने तीन करोड़ की लूट को अंजाम देने वाले शातिर लूटेरे को महिला मित्र ने दी पनाह, दो आरोपित गिरफ्तार

STORY : पौने तीन करोड़ की लूट को अंजाम देने वाले शातिर लूटेरे को महिला मित्र ने दी पनाह, दो आरोपित गिरफ्तार

Mahesh Parbat | Publish: Apr, 17 2019 12:18:56 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 12:18:57 PM (IST) Sirohi, Sirohi, Rajasthan, India

जनवरी माह में चितौडग़ढ़ जिले में ट्रेन में यात्रा कर रहे दो ज्वेलरी शोरूम के कर्मचारियों से पौने तीन करोड़ रुपए के सोने के जेवरात लूटने के मामले में जीआरपी उदयपुर ने खुलासा किया। पुलिस ने मामले में दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है, वहीं वारदात में शामिल एक आरोपित के गांधीनगर स्थित मकान में छुपे होने व मौके से कुछ गहने व दस्तावेज बरामद होने की बात कही।

आबूरोड. जनवरी माह में चितौडग़ढ़ जिले में ट्रेन में यात्रा कर रहे दो ज्वेलरी शोरूम के कर्मचारियों से पौने तीन करोड़ रुपए के सोने के जेवरात लूटने के मामले में जीआरपी उदयपुर ने खुलासा किया। पुलिस ने मामले में दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है, वहीं वारदात में शामिल एक आरोपित के गांधीनगर स्थित मकान में छुपे होने व मौके से कुछ गहने व दस्तावेज बरामद होने की बात कही। मकान में आरोपित को अपनी महिला मित्र ने पनाह देना भी सामने आया है।
जीआरपी अजमेर वृत उदयपुर वृताधिकारी श्यामलाल मीणा ने मंगलवार को प्रेस नोट जारी कर बताया कि थाना क्षेत्र में ७ जनवरी को चलती ट्रेन बांद्रा-उदयपुर के स्लीपर कोच एस-४ में अज्ञात चोरों ने परिवादी नरेंद्रखुमार व विपुल रावल के बैग, जिसमें ८.४८ किलोग्राम सोने के आभूषण (कीमत करीब २.७५ करोड़) लूट लिए थे। परिवादी यश गोल्ड कम्पनी मुम्बई में कार्यरत थे। मामले की गम्भीरता को देखते हुए अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (रेलवेज)नीनासिंह व अजमेर पुलिस अधीक्षक पूजा अवाना के आदेश पर वृताधिकारी के नेतृत्व में गठित टीम ने कामयाबी हासिल करते हुए दो आरोपित सेवाड़ी पुलिस थाना बाली जिला पाली हाल मुम्बई पालघर निवासी नरपतकुमार माली पुत्र देवाराम व खुड़ाला फालना जिला पाली हाल यश गोल्ड कम्पनी मुम्बई निवासी दिनेश पुत्र मगाराम चौधरी को गिरफ्तार किया है।
गांधीनगर में महिला मित्र के यहां छुपा था
मामले में पुलिस ने आरोपित दीपक जोशी के आबूरोड में होने की सूचना मिलने पर गत आबूरोड जीआरपी व शहर पुलिस के सहयोग से गत १२ अपे्रल की रात्रि गांधीनगर पुराने आइटीआइ के पास स्थित दीपक जोशी की महिला मित्र के घर पर दबिश दी थी, तो मकान में छुपा आरोपी दीपक जोशी अपनी कार के साथ फरार हो गया। जिसको पकडऩे के लिए नाकाबंदी करवाकर सरगर्मी से तलाश भी की, लेकिन आरोपित भागने में सफल रहा।
प्रेमिका को दिलवाया था प्लॉट
पुलिस ने गांधीनगर स्थित आरोपी की महिला मित्र के मकान से कुछ गहने व आरोपी की एक महाराष्ट्र नम्बर की कार व वारदात के बाद अपनी प्रेमिका को दिलवाए गए प्लॉट के कागजात बरामद करने में कामयाबी प्राप्त की। पुलिस की ओर से बताया गया कि आरोपित दीपक जोशी बहुत शातिर बदमाश है। पूर्व में भी कई वारदातों को अंजाम दे चुका है। आरोपित के खिलाफ मारपीट फायरिंग व लूट के मामले दर्ज है। आरोपित हर बार अलग-अलग लड़कों व व्यक्तियों को टीम में शामिल कर बड़ी वारदातों को अंजाम दिलवाता है। बताया जा रहा है कि आरोपित दीपक जोशी आबूरोड स्थित मकान में दबिश से पूर्व तीन दिन से रह रहा था। मामले में दो अन्य आरोपित भी फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से दूर है।
कर्मचारी ही था शामिल
आरोपित दिनेश चौधरी यश गोल्डी कम्पनी में कार्यरत था, जिसकों पता था की कब-कब और किस शहर में कौनसी ट्रेन से कर्मचारी सोने के आभूषण लेकर जाते हैं। जिस पर आरोपित ने जल्दी अमीर बनने की चाहत के चलते अपने दोस्त नरपत माली के साथ मिलकर वारदात का षडय़ंत्र रचा। जिसमें नरपत माली ने अपने दोस्त देसूरी हाल सेवाड़ी जिला पाली निवासी दीपक जोशी व पांच सात अन्य दोस्तों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned