scriptakhil bharitya sant sammelan in shantivan | शांतिवन में पहुंचे देशभर से संत व धार्मिक गुरू, सम्मेलन को लेकर प्रधानमंत्री ने भेजा ये संदेश ... | Patrika News

शांतिवन में पहुंचे देशभर से संत व धार्मिक गुरू, सम्मेलन को लेकर प्रधानमंत्री ने भेजा ये संदेश ...

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सभी की जिज्ञासाओं का समाधान कर राष्ट्र की प्रगति जरूरी
- अखिल भारतीय संत सम्मेलन की हुई शुरुआत

सिरोही

Updated: June 19, 2022 10:52:41 pm

आबूरोड. ब्रह्माकुमारी संस्थान के शांतिवन में तीन दिवसीय अखिल भारतीय संत सम्मेलन की शुरुआत रविवार को उद्घाटन सत्र के साथ हुई। 'परमात्मा का सत्य स्वरूप' विषय पर आयोजित सम्मेलन में देशभर से संत-महात्माओं ने भाग लिया व संत समाज ने खुले मन से पूरे विश्व में शांति, सौहार्द व एकता की कामना की। शंकर शक्ति आश्रम वृंदावन के महामंण्डलेश्वर स्वामी राजशेखरानंद ने कहा कि आज पूरे विश्व में शांति व सदभाव की अति आवश्यकता है। इसके लिए परमात्मा के सत्य स्वरूप को पहचानना जरूरी है। यदि एक परमात्मा व एक परिवार का सिद्धांत प्रतिपादित हो जाए तो निश्चित तौर पर पूरे विश्व में असमानता समाप्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारीज के शांतिवन से एक लौ निकलेगी, जो पूरे विश्व को आलोकित करेगी। यह संत सम्मेलन उसकी नींव है। संस्थान के ज्ञान व परमात्मा के पहचान की परिभाषा में कोई विरोधाभास नहीं हैं। हम सभीको मिलकर विश्व शांति का प्रयास करना चाहिए।
संस्थान की मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने कहा कि पूरा विश्व एक परिवार है। हम केवल शरीर के रूप में बंटे है, लेकिन हमारी वह पहचान नहीं हैं। परमात्मा शिव ने हमारी पहचान आत्मा के रूप में दी है। इसलिए हम आत्मा के रूप में भाई-भाई है। राजयोग ध्यान से ही हमारे जीवन में बदलाव आयेगा।
येल्लुरू आंध्रप्रदेश से पहुंचे यग्यनवालय राजाश्रमम के पीठाधिपति कृष्णम् चरणानंद भारती महाराज ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज में प्रवेश करते ही यह एहसास हो जाता है कि भारतीय संस्कृति व आध्यात्मिक ज्ञान में कितनी ताकत है। राजपुरा से पहुंचे आचार्य अरविन्द मुनि ने कहा कि आज हिंसा की खबरे विचलित करती हैं। ऐसे में जरूरी है कि हम एक ऐसे माहोल का निर्माण करें, ताकि विश्व मेंं शांति हो और परमात्मा की पहचान हो। सन्यास आश्रम मुम्बई से पहुंचे महामंडलेश्वर प्रेमानंद गिरी ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज बहनों की त्याग व तपस्या पूरे विश्व को आलोकित कर रही है। पूरे विश्व में यह संस्थान फैल गया है, इसी सिद्धांतों के साथ यह इसका प्रमाण है। संस्थान के अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन, कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय, दिल्ली पांडव भवन की प्रभारी बीके पुष्पा, धार्मिक प्रभाग की अध्यक्षा बीके मनोरमा व मुख्यालय संयोजक बीके रामनाथ ने विचार व्यक्त किए।
शांतिवन में पहुंचे देशभर से संत व धार्मिक गुरू, सम्मेलन को लेकर प्रधानमंत्री ने भेजा ये संदेश ...
शांतिवन में पहुंचे देशभर से संत व धार्मिक गुरू, सम्मेलन को लेकर प्रधानमंत्री ने भेजा ये संदेश ...
शांतिवन में पहुंचे देशभर से संत व धार्मिक गुरू, सम्मेलन को लेकर प्रधानमंत्री ने भेजा ये संदेश ...प्रधानमंत्री ने भेजा संदेश
देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संदेश भेजकर संत सम्मेलन की सफलता की कामना की। उन्होंने कहा है कि लोगों की जिज्ञासाओं का समाधान कर राष्ट्र प्रगति के लिए प्रयास करना है। मुझे विश्वास है संत समाज इस सम्मेलन से पूरे विश्व में भारतीय संस्कृति की झलक जाएगी। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला, ब्रह्माकुमारी की अतिरिक्त मुख्य प्रशासिका बीके मोहिनी, बीके जयंती ने लंदन से संदेश भेजा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल'इज ऑफ डूइंग बिजनेस' के मामले में 7 राज्यों ने किया बढ़िया प्रदर्शन, जानें किस राज्य ने हासिल किया पहला रैंक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.