सिरोही में पुत्र वैभव के लिए क्या बोल गए सीएम गहलोत

सिरोही. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बामनवाड़ में रविवार को कार्यकर्ता संवाद समागम में जालोर-सिरोही संसदीय क्षेत्र से वैभव गहलोत को उम्मीदवार बनाने की इच्छा तो जाहिर की लेकिन फैसला आलाकमान पर छोडऩे की बात कहते हुए कार्यकर्ताओं को 'हाथÓ मजबूत करने की भोळावण दी।

By: Rajuram jani

Published: 10 Mar 2019, 08:49 PM IST

सिरोही. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बामनवाड़ में रविवार को कार्यकर्ता संवाद समागम में जालोर-सिरोही संसदीय क्षेत्र से वैभव गहलोत को उम्मीदवार बनाने की इच्छा तो जाहिर की लेकिन फैसला आलाकमान पर छोडऩे की बात कहते हुए कार्यकर्ताओं को 'हाथÓ मजबूत करने की भोळावण दी। उन्होंने कहा कि मेरी पिछले दस साल से इच्छा है कि वैभव गहलोत यहां से चुनाव लड़े लेकिन ये पार्टी आलाकमान-राहुल गांधी तय करेंगे। ऐसे में जिसे भी पार्टी का टिकट मिले, उसे वैभव मानकर जिताने में जुट जाएं। उन्होंने कहा कि इस बार संसदीय क्षेत्र से दावेदार के रूप में वैभव गहलोत का नाम चला है। पिछली बार मेरी इच्छा थी कि वैभव को जालोर-सिरोही से चुनाव लड़वाया जाए लेकिन किसी कारण टिकट नहीं मिल पाया। पूरा कैम्पेन भी किया था और मैं जालोर भी आया था लेकिन चुनाव के समय स्थानीय समीकरण भी देखने पड़ते हैं। टिकट हाईकमान तय करता है।
हम पार्टी के वफादार सिपाही हैं। पार्टी ने मेरे पर इतना विश्वास जताया कि पांच बार सांसद, तीन बार केन्द्रीय मंत्री, तीन बार प्रदेशाध्यक्ष और दो बार एआईसीसी का महामंत्री बनाया। तीसरी बार मुख्यमंत्री के रूप में आपके सामने खड़ा हूं। ऐसे में पार्टी जो भी फैसला करें, हम सभी को स्वीकार होना चाहिए। उम्मीदवार का चेहरा नहीं देखना है। इंदिरा गांधी का दिया हुआ हाथ का निशान देखना है। वहीं त्याग और बलिदान की निशानी कांग्रेस के झंडे को याद रखना है। गहलोत ने कार्यकर्ताओं को भोळावण देते हुए कहा कि उम्मीदवार वैभव बन जाए तो ठीक है और कोई दूसरा बन जाए तो उसमें वैभव देखना है। हमें यह सीट जीतनी है। आप एकजुट हो जाओगे तो विधानसभा चुनाव में सात सीट हारने के बाद भी लोकसभा में हम यह सीट जीतेंगे।

Rajuram jani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned