VIDEO : देखे कैसे आपके लीवर व किडनी के लिए घातक है ये नकली जीरा, आबूरोड में इकाई सीज, ठेकेदार गिरफ्तार

Mahesh Parbat | Publish: Apr, 19 2019 02:17:15 PM (IST) Sirohi, Sirohi, Rajasthan, India

रीको पुलिस की ओर से मावल स्थित रीको ग्रोथ सेंटर फेज-द्वितीय में नकली जीरा बनाने की इकाई को सीज किया।

आबूरोड. रीको पुलिस की ओर से मावल स्थित रीको ग्रोथ सेंटर फेज-द्वितीय में नकली जीरा बनाने की इकाई पकडऩे के बाद गुरुवार को चिकित्सा व विभाग व पुलिस ने इकाई से सेम्पल लेकर इकाई को सीज किया। मामले में पुलिस ने मौके से एक आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया है। मामले में शरीक मुख्य सरगना व अन्य आरोपितों की तलाश जारी है। पुलिस ने इकाई से भारी मात्रा में कट्टों में भरा नकली जीरा व जीरा बनाने में काम में ली जा रही सामग्री व उपकरण जब्त किए है।
थानाधिकारी के अनुसार मावल रीको ग्रोथ सेंटर फेज -द्वितीय स्थित एक बंद इकाई में नकली जीरा बनाने का कार्य होने की सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीणा के निर्देश पर पुुलिस उप अधीक्षक प्रवीण कुमार सेन, रीको थानाधिकारी चम्पाराम व उप निरीक्षक छगनलाल डांगी मय टीम ने बुधवार शाम पुलिस टीम के साथ ग्रोथ सेंटर स्थित ई-१४ अग्रवाल इंडस्ट्रीज इकाई पर दबिश दी थी। इकाई में कार्यरत कार्मिको से पूछताछ कर कामकाज बंद करवाकर अग्रिम कार्रवाई के लिए खाद्य निरीक्षक को सूचना दी गई थी। जिसके बाद गुरुवार को चिकित्सा विभाग के खाद्य निरीक्षक विनोदकुमार शर्मा ने रीको थानाधिकारी चम्पाराम, उप निरीक्षक छगनलाल डांगी, एएसआई कैलाशचंद्र, हैड कांस्टेबल नरेंद्रसिंह व भवानी सिंह कांस्टेबल बजरंगलाल, अमनकुमार व देवीलाल ने इकाई पहुंचकर नकली जीरे, घास, पत्थर के चूरे की जांच कर सेम्पल लिए। खाद्य निरीक्षक शर्मा ने सेम्पलों की विभागीय लेबोरेट्री में जांच के बाद अग्रिम कार्रवाई की बात कही। मामले में पुलिस ने हाथिनापुर, शाहपुरा थाना जलालाबाद, जिला शाहजहांपुर (उत्तरप्रदेश) निवासी अरुण उर्फ रोहित जाटव को गिरफ्तार किया है।
ऐसे बनाते थे नकली जीरा
इकाई में मिले कच्चे माल के मुताबिक जीरा जंगली घास को केमिकल व अन्य सामग्री से प्रोसिंग कर बनाया जा रहा था। घास के टुकडों को बारिक जीरे के आकार में मशीन से काटा जाता था। जिसे बाद में गुड़ के घोल व पत्थर के चूरे में मिलाकर जीरे जैसा बनाया जाता था। वहीं इसे ब्लेक पाऊडर से जीरे जैसी साइनिंग दी जाती थी। इस पूरी प्रक्रिया को अंजाम देने के लिए इकाई में पांच कार्मिक कार्यरत थे। मौके से रिफाइंड ऑयल व पशु आहार के कट्टों में माल भरा मिला।
इकाई को किया सीज
पुलिस ने मौके से भारी मात्रा में नकली जीरे के साथ कच्चा माल बरामद किया गया। पुलिस ने मौके से साढ़े चार सौ बोरे नकली जीरा व नकली जीरा बनाने के लिए काम में लिए जा रहे तरल गुड़ से भरे २०० लीटर क्षमता के ४९ ड्रम, पत्थर पाउडर के २५० कट्टे अन्य सामग्री व उपकरण जब्त किए और इकाई सीज करने की कार्रवाई की।
किलेनुमा दीवारों के पीछे चलता था कारोबार
रीको क्षेत्र में अबतक अवैध कामकाज के लिए उंची किलेनुमा दीवारों की आड़ में हो रहे कामकाज का सिलसिला यहां भी जारी रहा। इकाई चारों तरफ से छह सात फीट की दीवारों के पीछे कामकाज चल रहा था। ऐसे में बाहर से गुजरने वाले लोगों व प्रशासन को अंदर चल रही गतिविधियों की जानकारी नहीं लग पाती थी।
लीवर, आंत व किडनी के लिए घातक
इकाई में तैयार किया जा रहा जीरा मानव स्वास्थ्य के लिए काफी घातक है। मौके पर कार्रवाई कर रहे खाद्य निरीक्षक से पूछने पर बताया गया कि इस जीरे के नियमित सेवन से कई घातक बीमारियां हो सकती है। नकली जीरा लीवर, आंत व किडनी के लिए घातक है।
सीएमएचओ ने भी लिया इकाई का जायजा
सूचना मिलने पर गुरुवार दोपहर जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी राजेश कुमार ने इकाई का जायजा लेते हुए निरीक्षक व थानाधिकारी से जानकारी ली। उन्होंने जीरा बनाने की प्रक्र्रिया व कच्चे माल की जानकारी खाद्य निरीक्षक से ली। वहीं पुलिस से क्षेत्र में ऐसी अन्य इकाई भी संचालित होने की आशंका जताई।
इन्होंने बताया ...
नकली जीरा पकडऩे की सूचना पर आज जांच कर सेम्पल लेने की कार्रवाई की गई है। जीरा बनाने की प्रक्रिया को देखा गया। जांच रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। प्रथम दृष्टया कार्य पूरी तरह फर्जी लग रहा है। इस जीरे से लीवर, आंतों व किडनी को भारी नुकसान पहुंच सकता है।
- विनोदकुमार शर्मा, खाद्य निरीक्षक, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, सिरोही
.................................
नकली जीरा बनाने की इकाई से आज खाद्य निरीक्षक के साथ सेम्पल लेने की कार्रवाई की गई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर अग्र्रिम कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने मामले में एक आरोपित को पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया है।
- चम्पाराम, थानाधिकारी, रीको पुलिस थाना आबूरोड.

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned