अस्पताल में भर्ती मरीज का शव निकला बाथरूम से

सामान्य चिकित्सालय का मामला
मधुमेह व टीबी का रोगी उपचार के लिए हुआ था भर्ती

By: mahesh parbat

Published: 27 May 2018, 10:07 AM IST

सिरोही. सामान्य चिकित्सालय के मेडिकल वार्ड में रविवार को बाथरूम में एक मरीज का शव मिला। जबकि, मरीज शुक्रवार तडक़े बेड से गायब हो गया था। ऐसे में परिजन उसकी तलाश कर रहे थे। लेकिन उसका शव दूसरे दिन चिकित्सालय के बाथरूम में मिला।
कोतवाली थाना प्रभारी आनंद कुमार ने बताया कि गोल (बरलूट) हाल झूपाघाट सिरोही निवासी जीतू हीरागर (३४) पुत्र कानाराम को मधुमेह व टीबी की बीमारी के उपचार को लेकर २४ मई को चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था। जो शुक्रवार सवेरे करीब ५ बजे बेड से उठकर बाथरूम में चला गया। ऐसे में काफी देर तक वापस नहीं लौटने पर परिजनों ने इधर-उधर तलाश शुरू की। लेकिन कोई सुराग नहीं लग पाया। इधर, बाथरूम से बदबू आने की शिकायत पर रविवार को गेट तुड़वाया। जिस पर मरीज का शव मिला।
खून की उल्टी हुई
पुलिस ने बताया कि मरीज को बाथरूम के अंदर खून की उल्टियां हुई और जिससे वह वहीं गिर गया। इस दौरान उसकी मौत हो गई।
शव को मोर्चरी में रखवाया
सूचना के बाद कोतवाली थाना प्रभारी आनंद कुमार व प्रमुख चिकित्साधिकारी डॉ. दर्शन ग्रोवर भी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मोर्चरी में रखवाया। समाचार लिखे जाने तक किसी ने भी रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई थी।
सामने आई चिकित्सालय प्रशासन की लापरवाही
चिकित्सालय प्रशासन की ओर से वार्डों के शौचालयों में साफ-सफाईव स्वच्छता को लेकर मॉनिटरिंग किस तरह की जाती है, इसकी पोल इस घटना से खुल गई। वहीं चिकित्सालय में मरीजों की निगरानी व्यवस्था को लेकर भी चिकित्सालय प्रशासन की लापरवाही सामने आई है। मरीज का शव दो दिन तक बाथरूम में पड़ा रहने के बावजूद किसी को भनक तक नहीं लगी।
परिजनों को नहीं लगी भनक
हालांकि, मरीज जीतू के साथ परिजन थे, लेकिन अल सवेरे वह अकेला ही बाथरूम गया। काफी देर तक वापस नहीं लौटा तो परिजन बाहर तलाशने चले गए। लेकिन बाथरूम की ओर न तो परिजनों का ध्यान गया और न ही चिकित्सालय प्रशासन का। सवेरे सफाई कर्मचारियों ने भी बाथरूम का दरवाजा बंद होने के बावजूद कोई ध्यान नहीं दिया। ऐसे में शव बाथरूम में दो दिन पड़ा रहा।
चींटियों से लगी भनक
वार्ड में बाथरूम की ओर चींटियां ज्यादा जा रही थी। ऐसे में स्वीपर को शक हुआ। जिस पर स्वीपर ने पीएमओ को इसकी जानकारी दी। इसके बाद स्वीपर ने बाथरूम के ऊपर से अंदर झांककर देखा, तो अंदर शव पड़ा दिखा। जिस पर पुलिस को बुलाकर दरवाजा तोडक़र शव को बाहर निकलवाया।

समझाइश पर उठाया शव, संदिग्धों से पुलिस पूछताछ

सिरोही. झाड़ौली वीर गांव में बुजुर्ग महिला की गला दबाकर हत्या करने के मामले में परिजनों ने पुलिस-प्रशासन की समझाइश पर दूसरे दिन शनिवार को शव उठा लिया। गौरतलब है कि बरलूट थाना क्षेत्र के झाड़ौली वीर गांव में २४ मई को देर रात बदमाशों ने ७० वर्षीय लाडू देवी पत्नी गणेशाराम देवासी की गला दबाकर हत्या कर दी थी। इसके बाद बदमाश केलूपोश के मकान में घुसकर चोरी की वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए थे। सूचना के बाद शुक्रवार को बरलूट थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लिया था।
इधर, देवासी समाज के लोगों समेत ग्रामीणों ने शनिवार को आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव उठाने से इनकार कर दिया और धरने पर बैठ गए। लेकिन पुलिस-प्रशासन ने ग्रामीणों से समझाइश की और आरोपितों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। इसके बाद परिजन शव उठाने को राजी हो गए। जिस पर पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया।
टीमों का गठन, आरोपितों की तलाश तेज
इधर, पुलिस की ओर से संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। वहीं टीमों का गठन कर आरोपितों की तलाश की जा रही है।

संदिग्ध लोगों से पूछताछ की जा रही है। जल्द ही मामले का राजफाश कर आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा।
-ओमप्रकाश, पुलिस अधीक्षक, सिरोही

mahesh parbat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned