scriptMore than 200 illegal liquor branches here, contracts opened in wareho | यहां शराब की 200 से अधिक अवैध ब्रांच, गोदामों में खुल गए ठेके | Patrika News

यहां शराब की 200 से अधिक अवैध ब्रांच, गोदामों में खुल गए ठेके

पत्रिका स्टिंग में खुलासा

अमरसिंह राव

 

सिरोही

Updated: January 05, 2022 03:55:42 pm

सिरोही. तीन दिन पहले जिले के सरूपगंज की इंद्रा कॉलोनी में शराब की जिस दुकान में एक युवक की हत्या की गई। असल में वह अधिकृत नहीं बल्कि शराब की अवैध दुकान थी और वहां तो हथकढ़ शराब के भट्टे तक चलते हैं। इसके बाद पड़ताल की तो पता चला कि जिले में दिनों-दिन शराब की अवैध ब्रांच गांव-गांव ढाणी-ढाणी में खुल गई है। जहां अंग्रेजी शराब तक खुलेआम बेची जा रही है। मौजूदा समय में जिले में २०० से अधिक शराब की अवैध ब्रांच चल रही है और वह भी सरेआम। रात आठ बजे बाद भी यहां शराब आसानी से मिल जाती है। कुछ जगहों पर तो गोदामों तक में सरकारी ठेके खुल गए हैं। राजस्थान पत्रिका की ओर से जिले में कुछ जगहों पर किए गए स्टिंग में इसका खुलासा हुआ है। ऐसा नहीं है कि आबकारी या पुलिस को इसकी जानकारी नहीं है। आबकारी महकमा सबकुछ जानते-समझते भी कुछ भी कार्रवाई नहीं कर पा रहा है।
गोदाम से नहीं बेच सकते शराब....
Sirohi
यहां शराब की 200 से अधिक अवैध ब्रांच, गोदामों में खुल गए ठेके
जानकार बताते हैं कि आबकारी महकमे की ओर से जिले के लाइसेंसधारी दुकानदारों को शराब रखने के लिए अलग से गोदाम भी आवंटित किए हैं। इन गोदामों से किसी तरह की शराब नहीं बेची जा सकती। यदि ऐसा करता हुआ कोई पाया जाता है तो उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई का प्रावधान है। जुर्माने के साथ-साथ आवंटी का लाइसेंस तक निरस्त किया जा सकता है। लेकिन इतना सबकुछ होने के बावजूद जिले में अब तक लाइसेंस निरस्त करने जैसी कार्रवाई नहीं हुई है।
लोकेशन लिस्ट है कि बाहर ही नहीं आती...
अधिकृत गोदामों की लोकेशन तक तय है लेकिन आबकारी महकमे के अधिकारी इन गोदामों की लोकेशन सूची आसानी से बाहर नहीं देते। क्योंकि लिस्ट बाहर निकले तो इनकी पोल खुल जाए। पत्रिका टीम बाकायदा जिला आबकारी अधिकारी योगेश श्रीवास्तव के दफ्तर गई और उनसे लोकेशन की लिस्ट मांगी तो उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा कि आप क्या करोगे लिस्ट का। फिर कहा कि आप जाइए... अभी कुछ देर बाद आपको वॉटसएप पर भेज देंगे। फिर टीम वहां से आ गई। कुछ घंटों बाद उनसे फोन पर बात हुई तो टालमटोल जवाब देते रहे। लेकिन गोदामों की लोकेशन लिस्ट नहीं दी। बावजूद इसके पत्रिका टीम ने जिले के कुछ ऐसे चुनिंदा अवैध ब्रांच और गोदाम खोज निकाले। जहां सरेआम शराब बेची जा रही है। इनको यहां रोकने-टोकने वाला शायद कोई नहीं है। शिवगंज, सिरोही, पिण्डवाड़ा, सरूपगंज-भांवरी और आबूरोड क्षेत्रों में ऐसे गोदाम खुलेआम चल रहे हैं।
इनका कहना है...
अधिकृत दुकानदार गोदाम से किसी तरह की शराब नहीं बेच सकते। यदि कहीं ऐसा हो रहा है तो हम निश्चित तौर पर कार्रवाई करेंगे। इसमें कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

-योगेश श्रीवास्तव, आबकारी अधिकारी, सिरोही

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP Election 2022: भाजपा सरकार ने नौजवानों को सिर्फ लाठीचार्ज और बेरोजगारी का अभिशाप दिया है: अखिलेश यादवतमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, खत्म होगा नाईट कर्फ्यू और 1 फरवरी से खुलेंगे सभी स्कूल और कॉलेजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.