scriptMount residents are not allowed to dig pits for toilets, while sewerag | माउंट निवासियों को शौचालय के लिए खड्डा खोदने की अनुमति नहीं, जबकि सीवरेज कंपनी कर रही दिनदहाड़े ब्लास्ट | Patrika News

माउंट निवासियों को शौचालय के लिए खड्डा खोदने की अनुमति नहीं, जबकि सीवरेज कंपनी कर रही दिनदहाड़े ब्लास्ट

तत्कालीन कलक्टर ने नियम विरुद्ध दी थी कंट्रोल ब्लास्ट की अनुमति

रुडीप द्वारा चट्टान तोड़ने के लिए नियम विरुद्ध किया ब्लास्ट

सिरोही

Published: April 03, 2022 03:43:10 pm

माउंट आबू. हिल स्टेशन माउंट आबू के स्थानीय निवासी लंबे समय से अपने घर में शौचालय बनाने के लिए खड्डा खोदने तक की अनुमति को तरस रहे हैं। जबकि सीवरेज लाइन बिछाने के नाम पर पिछले 14 वर्षों से चल रहे कार्य में नियमों को ताक में रखा जा रहा है। इतना ही नहीं कंपनी द्वारा लगातार किए जा रहे ब्लास्ट से लोगों का अब जीना मुश्किल हो गया है। ऐसा ही नजारा शुक्रवार को दिन में देखने को मिला। जहां सीवरेज कंपनी ने कुमारवाडा स्थित शंकर मठ रोड पर दिनदहाड़े ब्लास्ट किए, जिससे कॉलोनी में तेज धमाके की आवाज आई। कुमार वाडा स्थित लोगों के घरों से कनेक्शन जोड़ने के लिए मुख्य सड़क पर सीवरेज कंपनी द्वारा लंबे समय से खोदे गए खड्डे में चट्टान तोड़ने के लिए दो अलग-अलग स्थानों पर शुक्रवार शाम को 5 बजकर 20 मिनट व 5 बजकर 34 मिनट पर ब्लास्ट करने की जानकारी सामने आई।
मांउट आबू. ब्लास्ट करने के लिए खड़ा ट्रैक्टर व ब्लास्ट स्थल।
मांउट आबू. ब्लास्ट करने के लिए खड़ा ट्रैक्टर व ब्लास्ट स्थल।
यह है पूरा मामला

माउंट आबू में सीवरेज लाइन बिछाने के लिए 2007 से कार्य चल रहा है। इस कार्य के लिए पूर्व में तीन कंपनियां काम छोड़कर भी चली गई। लेकिन एक कंपनी लंबे समय से कार्य कर रही है। इस कार्य के लिए सरकार के करोड़ों रुपए भी खर्च हो चुके है। यह कार्य 2010 में ही पूरा होना था। लेकिन बिना सूझबूझ की वजह से यह कार्य लंबा हो गया। ऐसे में अब सीवरेज लाइन बिछाने वाली कंपनी के लोग भी माउंट आबू नो कंस्ट्रक्शन जोन होने के कारण अनैतिक गतिविधियों में लग गए। जिसका पूर्व में भी कई बार शहर वासी ओर जनप्रतिनिधि भी आरोप तक लगा चुके हैं। इस कार्य के लिए इको सेंसेटिव जोन, एनजीटी व मास्टर प्लान तक के नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है।
नियम विरुद्ध ब्लास्ट की अनुमति, कोई रोकने को तैयार नहीं

पिछले 3 वर्षों से माउंट आबू में सीवरेज कंपनी द्वारा लगातार ब्लास्ट किए जा रहे है। साथ ही बड़ी-बड़ी चट्टानें तोड़कर पत्थरों की कालाबाजारी की जा रही है। सीवरेज कंपनी के लोग रसूखदार होने के कारण तत्कालीन जिला कलेक्टर से 11 जून 2019 को नियम विरुद्ध कंट्रोल ब्लास्ट की अनुमति प्राप्त कर ली। जबकि तत्कालीन जिला कलेक्टर ने स्थानीय एसडीएम कार्यालय व वन विभाग द्वारा इसकी राय तक नहीं ली गई थी। उसके बाद सिवरेज कंपनी ने शहर में अंधाधुन ब्लास्ट शुरू किए। जिससे कई घटनाएं भी हुई। जब शहर वासियों ने इसका विरोध किया तो वन विभाग के सीसीएफ ने माउंट आबू डीएफओ को पत्र लिखकर अविलंब रुकवाने के निर्देश दिए। उसके बाद माउंट आबू डीएफओ ने 1 फरवरी 2021 को तत्कालीन जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर माउंट आबू में हो रहे ब्लास्ट को रुकवाने का आग्रह किया। लेकिन आज दिन तक इस पर कार्रवाई नहीं हुई।
निर्माण सामग्री की कालाबाजारी के लग रहे है आरोप

माउंट आबू में सीवरेज की आड़ में निर्माण सामग्री की कालाबाजारी के लंबे समय से आरोप लग रहे हैं। कई जनप्रतिनिधियों व शहर के नागरिकों ने उच्च अधिकारियों को ज्ञापन सौंपकर आरोप लगाया था। कि कम्पनी के स्थानीय अधिकारी व कर्मचारी ईट, बजरी, पत्थर सहित निर्माण सामग्री के साथ-साथ डीजल तक की कालाबाजारी करते है। साथ ही शहर वासियों द्वारा कई बार अधिकारियों को ज्ञापन सौंपकर लगातार कंपनी द्वारा किए जा रहे अवैध रूप से ब्लास्ट से भवनों को हुए नुकसान की भी जानकारी कई बार दी। बावजूद जिम्मेदार मौन है।
इनका कहना...

- सिवरेज कंपनी द्वारा लगातार ब्लास्ट किए जा रहे हैं। इससे कई घरों में दरार भी आ चुकी है। नियम विरुद्ध सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट तक का निर्माण कर दिया। अब लोग पलायन को मजबूर है।
महेंद्र दान चार्ली, निवासी माउंट आबू

- ब्लास्टिंग को लेकर हमने 1 वर्ष पूर्व जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर ब्लास्ट की अनुमति के मामले में पुनर्विचार करने का आग्रह किया था हालांकि यह मामला विधानसभा में भी उठा था लेकिन यह प्रशासन का विषय है।
विजय शंकर पांडे, डीएफओ - माउंट आबू

- कैसे ब्लास्ट की अनुमति दी मुझे जानकारी नहीं है। मैं एक बार फिर से इसे सोमवार को चेक करता हूं। अगर सीवरेज कंपनी नियम विरुद्ध कार्य कर रही है तो एक बार पुनः इस प्रोजेक्ट को चेक किया जाएगा। किसी भी सरकारी कार्य मे धांधली बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
डॉ भंवर लाल, जिला कलेक्टर - सिरोही

मांउट आबू. ब्लास्ट से पूर्व जेसीबी लगाकर बंद किया सड़क मार्ग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.