scriptneed to punish the dishonest | बेईमानों को सजा जरूरी | Patrika News

बेईमानों को सजा जरूरी

अमरसिंह राव

सिरोही जिले में चंद महीनों पहले शराब तस्करों से मिलीभगत के आरोपों के चलते जिस तरह से तत्कालीन एसपी हिम्मत अभिलाष को हटाकर निलम्बित किया और दस थानेदारों को हटाकर बाड़मेर-जैसलमेर भेजा गया, इसके बाद जिले की कमान नए एसपी और थानों की कमान भी नए अफसरों के हाथों में दी गई। लेकिन लगता है कुछ अफसरों ने इतनी बड़ी किरकिरी के बाद भी सबक नहीं लिया। जिले में पिछले कुछ समय से अपराधियों के साथ पुलिस की साठगांठ की बढ़ती प्रवृत्ति के कारण आमजन में पुलिस की छवि में निरंतर गिरावट आती जा रही है।

सिरोही

Published: November 17, 2021 05:38:48 pm

हालांकि नए पुलिस कप्तान धर्मेन्द्रसिंह की सक्रियता और चौकस निगाहों से ऐसे घूसखोर या लापरवाह पुलिसकर्मी बच नहीं रहे। पकड़ में आने पर सख्त कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा। नए एसपी सकारात्मक सोच के साथ समय-समय पर ईमानदार पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत कर रहे हैं तो बेईमानों पर तत्काल कार्रवाई करने से भी नहीं हिचक रहे। यही वजह है कि नए कप्तान की छवि जनता में अच्छी बनती जा रही है।
Sirohi
बेईमानों को सजा जरूरी
एसपी धर्मेन्द्रसिंह ने मंगलवार को बरलूट की महिला थानेदार सहित चार पुलिसकर्मियों को निलम्बित कर अच्छा सन्देश दिया। वजह थी कि इन पुलिसकर्मियों ने पिछले दिनों डोडा-चूरा के आरोपी को 10 लाख रुपए लेकर छोड़ दिया और एसपी को गलत रिपोर्ट पेश की। सीसीटीवी में वाकया कैद भी हुआ। एसपी ने ऐसे बेईमान पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने में कोई देरी नहीं की।
इधर, माउंट आबू में दीपावली पर बख्शीश लेने के मामले में दो पुलिसकर्मियों को निलम्बित कर दिया। भटाना के पास रेवदर आबकारी की ओर से मिलावटी शराब की खेप पकड़ी गई, लेकिन स्थानीय चौकी को पता ही नहीं चला। ऐसे में भटाना चौकी के पूरे स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया। चंद रोज पहले एक अन्य मामले में आरोपी के साथ मंच साझा करने के मामले में थानाप्रभारी माया पंडित को लाइन हाजिर कर दिया। वाकई में नए एसपी के प्रयास पुलिस की छवि सुधारने की दिशा में अच्छे माने जा रहे हैं, लेकिन मामले में असल सुधार तभी होगा जब आरोपी को फील्ड पोस्टिंग नहीं देने का कानून बने। दागी को फील्ड पोस्टिंग की पैरवी करने से भी बड़े लोगों को नसीहत लेनी चाहिए। सरकार को चाहिए कि ऐसी कोई पहल करें, ताकि दागी को कभी फील्ड पोस्टिंग ही नहीं दी जाए। तभी पुलिस का अपराधियों में भय और आमजन में विश्वास वाला नारा बुलंद हो पाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022 : अखिलेश के अन्न संकल्प के बाद भाकियू अध्‍यक्ष का यू टर्न, फिर किया सपा-रालोद गठबंधन के समर्थन का ऐलानCoronavirus : भारत में 23 जनवरी को आएगा कोरोना की तीसरी लहर का पीक, IIT कानपुर के प्रोफेसर ने की ये भविष्यवाणीभारत के कोरोना मामलों में आई गिरावट, पर डरा रहा पॉजिटिविटी रेटअरुणाचल प्रदेश में भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर 4.9 मापी गई तीव्रताभगवंत मान हो सकते हैं पंजाब में AAP के सीएम उम्मीदवार! केजरीवाल आज करेंगे घोषणाप्री-बोर्ड एग्जाम का शेड्यूल जारी, स्टूडेंट्स को इस काम के लिए जाना होगा स्कूलUP Police Recruitment 2022: 10 वीं पास युवाओं को सरकारी नौकरी का मौका, यूपी पुलिस ने निकाली भर्ती, 69,100 रुपये मिलेगी सैलरीOmicron Symptoms: ओमिक्रॉन के ये लक्षण जिसके बारे में आपको भी पता होना चाहिए,जानिए कितने दिनों तक रहते हैं ये शरीर में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.