scriptOf course Bhiksingh Bhati is 76 years old in terms of age, but the ent | उम्र के लिहाज से बेशक भीकसिंह भाटी 76 साल के हैं, पर योग सीखाने में युवाओं वाला जोश-खरोश | Patrika News

उम्र के लिहाज से बेशक भीकसिंह भाटी 76 साल के हैं, पर योग सीखाने में युवाओं वाला जोश-खरोश

हाथ से फिसलती उम्र को थाम लिया है उन्होंने, योग को अपनी जिन्दगी का अटूट हिस्सा बना लिया। उम्र की गणित में बेशक आगे निकल गए हैं, पर जोश-खरोश में किसी युवा से कम नहीं है। योग ने ही तो बढ़ती उम्र के साथ बूढा नहीं होने दिया, निरोगी और फुर्तीला बनाए रखा है। वे खुश हैं और पॉजिटिव भी...

महज तेरह साल की आयु में ही शुरू किया था योग, 2010 में बने योग शिक्षक, रोजाना लेते हैं निशुल्क योग कक्षाएं

सिरोही

Updated: June 21, 2022 02:27:29 pm

सिरोही. आज योग दिवस पर हम आपको सिरोही की एक ऐसी शख्सियत से रूबरू करवा रहे हैं, जिन्होंने उम्र को सिर्फ गणित का अंक ही समझा है। मूल रूप से सिरोही निवासी भीकसिंह भाटी ने योग से कई बीमारियों को दूर रखा और आज 76 साल की उम्र में भी वे पूरी तरह स्वस्थ और फिट है। इतना ही नहीं, वह योग का प्रशिक्षण देकर लोगों को भी लाभान्वित कर रहे हैं। सिरोही के भीकसिंह कलक्टर कार्यालय में ऑफिस सुपि्रन्टेन्डेन्ट (ओएस) के पद पर कार्यरत रहे। वर्ष-2008 में सेवानिवृत्त हो गए। उन्होंने योग से खुद की काया को न सिर्फ निरोगी बनाया वरन् सेवानिवृत्त होने के बाद योग को अपनी साधना बना लिया। योग अब उनकी रग-रग में रच-बस चुका है। चाहे स्कूल हो या फिर मंदिर, घर या कोई सार्वजनिक जगह, हर जगह वे लोगों को योग का महत्व समझाने में कोई गुरेज नहीं करते। वैसे कई सालों से शहर के गांधी-पार्क में रोजाना सुबह करीब डेढ़ घंटे की योग कक्षा लगाकर शहरवासियों के रोगों को योग के जरिए दूर भगा रहे हैं। इतना ही नहीं, वे तो कहते है कि जीवन की अंतिम सांस तक वे अपने शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं, क्योंकि उन्होंने अपना शरीर मरणोपरांत दान करने का संकल्प लिया हुआ है। वे चाहते हैं कि जिस किसी को भी उनके मरने के बाद उनके अंग मिलें, वह बिल्कुल स्वस्थ रहें।
उम्र के लिहाज से बेशक भीकसिंह भाटी 76 साल के हैं, पर योग सीखाने में युवाओं वाला जोश-खरोश
उम्र के लिहाज से बेशक भीकसिंह भाटी 76 साल के हैं, पर योग सीखाने में युवाओं वाला जोश-खरोश
उम्र के लिहाज से बेशक भीकसिंह भाटी 76 साल के हैं, पर योग सीखाने में युवाओं वाला जोश-खरोशमहज तेरह साल की उम्र में शुरू किया था योग

योग शिक्षक भीकसिंह भाटी बताते हैं की उनका जन्म 21 मई,1947 को हुआ। वे 13 वर्ष की उम्र यानी 1960 में आर्य वीर दल से जुड़े और योग करना शुरू किया। इसके बाद उन्होंने योग को अपने जीवन से कभी दूर नहीं होने दिया। वे निरंतर जीवन में आगे बढ़ते रहे। राजस्थान यूनिवर्सिटी से मास्टर डिग्री हासिल करने के बाद सरकारी नौकरी में आ गए। वर्ष-2008 में जिला कलक्टर कार्यालय के ऑफिस सुपि्रन्टेन्डेन्ट के पद से सेवानिवृत हुए। इसके बाद उन्होंने योग को अपना जीवन ही बना लिया। उन्होंने योग गुरु बाबा रामदेव से योग शिक्षक की शिक्षा प्राप्त की। वर्ष- 2010 से योग शिक्षक बने। इसके बाद उन्होंने सैकड़ों लोगों को योग से जोड़ा। चाहे सर्दी का मौसम हो या फिर गर्मी या बारिश, वे शहर में नियमित रूप से योग की कक्षाएं निशुल्क ले रहे हैं।
लॉक-डाउन में भी योग का सिलसिला रखा जारी

भीकसिंह भाटी बताते हैं कि जब देश में कोरोना महामारी के चलते लॉक-डाउन घोषित किया गया तो उस समय सब कुछ बंद हो गया। यहां तक कि वे जिस पार्क में रोजाना योग कक्षा चलाते थे वह पार्क भी बंद कर दिया गया। इसके बावजूद उन्होंने योग नहीं छोड़ा और अरविन्द पॅवेलियन में जाकर योग करने लगे। उन्हें देखकर उनके कई साथी भी उनसे जुड़े और उनके साथ रोजाना योग करने लगे। योग की बदौलत कोरोना सरीखी महामारी भी उन्हें संक्रमित नहीं कर पाई।
साइकिल चलाकर तंदुरुस्त रहने की कवायद जारी

उन्होंने बताया कि वे जीवन के 76 वसंत देख चुके हैं, पर आज तक उन्होंने मोटर साइकिल या स्कूटी का उपयोग रोजमर्रा के जीवन में नहीं किया। वे अमूमन तो पैदल ही आते-जाते हैं, पर थोड़ा ज्यादा दूर जाना हो तो साइकिल की ही सवारी करते हैं। उनका मानना है कि अव्वल तो साइकिल से प्रदूषण फैलने का खतरा नहीं रहता, फिर साइकिल चलाना सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद है। साइकिल चलाने से समूचे शरीर का व्यायाम हो जाता है। इसके अलावा दिल को स्वस्थ रखने, मांसपेशियों को सुदृढ़ बनाए रखने व शरीर को तंदुरुस्त रखने में इसका कोई सानी नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: बीजेपी की कोर ग्रुप की बैठक खत्म, रवि शंकर प्रसाद ने नीतीश कुमार से पूछा बीजेपी के साथ क्यों आए थे?Bihar New Govt: नीतीश कुमार CM, डिप्टी CM व होम मिनिस्ट्री राजद के पाले में, कांग्रेस से स्पीकर बनाए जाने की चर्चाBihar Politics: 2024 में नीतीश कुमार नहीं होंगे विपक्ष के पीएम उम्मीदवार, कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर खोला राज'मुफ्त रेवड़ी' कल्चर मामले में सुप्रीम कोर्ट में आमने-सामने AAP और BJP, आम आदमी पार्टी ने कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजानाMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपJharkhand News: रांची के बुंडू में सड़क हादसा, ट्रक ने छात्राओं को रौंदा, 3 बच्चों की मौत, 1 घायलबिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल का आरोप, नीतीश कुमार ने NDA और BJP को धोखा दियाMaharashtra: सीएम एकनाथ शिंदे अपनी ‘मिनी’ टीम का सितंबर में करेंगे विस्तार, सामने आई यह बड़ी अपडेट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.