scriptसत्तुबाई हत्याकांड का ढाई माह बाद भी नहीं हुआ खुलासा, कलेक्ट्रेट पर हंगामा, पुलिस पर फेंकी गईं चूड़ियां | Sattubai murder case not solved even after two and a half months, uproar at collectorate | Patrika News
सिरोही

सत्तुबाई हत्याकांड का ढाई माह बाद भी नहीं हुआ खुलासा, कलेक्ट्रेट पर हंगामा, पुलिस पर फेंकी गईं चूड़ियां

Sattubai murder case: सिरोही जिले के खंदरा गांव में दिवंगत संत पोमजी महाराज की पत्नी सत्तुबाई की करीब ढाई माह पहले घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी

सिरोहीJun 29, 2024 / 04:35 pm

Rakesh Mishra

Sattubai murder case: सिरोही जिले के खंदरा गांव में दिवंगत संत पोमजी महाराज की पत्नी सत्तुबाई की हत्या का ढाई माह बाद भी पुलिस खुलासा नहीं कर पाई है। हत्या का राजफाश नहीं होने से आक्रोशित सर्व समाज के लोगों ने साधु-संतों के सानिध्य एवं पूर्व विधायक संयम लोढा के नेतृत्व में शुक्रवार को सिरोही कलक्ट्रेट व पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने धरना-प्रदर्शन किया। विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए संपूर्ण कलक्ट्री परिसर में भारी संख्या में पुलिस जाब्ता तैनात रहा और कलक्ट्री आने-जाने वाले गेटों को बंद कर वहां बेरिकेटस लगा दिए। इस दौरान धरना स्थल पर संबोधन के पश्चात जैसे ही धरनार्थी जिला पुलिस अधीक्षक व कलक्टर से मिलने के लिए रवाना हुए, तो पुलिस ने उन्हें गेट के पास ही रोक दिया। इस दौरान पुलिस प्रशासन व पूर्व विधायक के बीच बहस भी हुई। आखिरकार पूर्व विधायक लोगों के साथ गेट के समीप ही धरने पर बैठ गए।

इसलिए नहीं बनी बात

हत्याकांड के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर आक्रोशित लोगों ने धरना-प्रदर्शन के दौरान पुलिस अधीक्षक से अब तक की जांच स्थिति से अवगत कराने की मांग रखी। जिस पर बाहर तैनात पुलिस अधिकारियों ने 10 लोगों के प्रतिनिधिमंडल को कार्यालय में जाकर बात करने को कहा, लेकिन लोग नहीं माने और सभी ने मिलने की मांग रखी। साथ ही लोगों ने कलक्ट्रेट परिसर में अंदर घुसने का प्रयास किया। ग्रामीणों ने बताया कि अधिकारियों से पहले भी मिलकर ज्ञापन दे चुके, लेकिन अभी तक हत्याकांड का खुलासा नहीं हुआ।

महिलाओं ने पुलिस के खिलाफ की नारेबाजी, फेंकी चूड़ियां

धरना-प्रदर्शन को लेकर कलक्ट्री के चारों तरफ पुलिस जाब्ता तैनात रहा। प्रदर्शन के दौरान काफी समय तक गेट नहीं खोलने पर कुछ महिलाओं ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और अपने हाथों से चूड़ियां उतारकर पुलिस की तरफ फेंकी।

ढाई माह पहले हुई थी लूट व हत्या

उल्लेखनीय है कि जिले के खंदरा गांव में दिवंगत संत पोमजी महाराज की पत्नी सत्तुबाई की करीब ढाई माह पहले घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी। बदमाशों ने लूट की घटना को भी अंजाम दिया था। घटना के दौरान पुलिस अधिकारियों ने शीघ्र खुलासा करने का आश्वासन दिया था, लेकिन ढाई माह बाद भी पुलिस लूट व हत्या का राजफाश नहीं कर पाई है। इससे पोमजी महाराज के भक्तों व ग्रामीणों में आक्रोश है।

7 घंटे चला घटनाक्रम, प्रशासन पर हठधर्मिता का आरोप

करीब सात घंटे तक चले इस पूरे घटनाक्रम के दौरान दोनों आला अधिकारियों में से कोई उनकी बात सुनने के लिए धरना स्थल नहीं आया तो ग्रामीण आक्रोशित हो गए। पूर्व विधायक व ग्रामीणों ने प्रशासन पर हठधर्मिता और राजनीतिक दबाव का आरोप लगाते हुए उग्र प्रदर्शन किया और बेरिकेट तोड़कर भीतर प्रवेश करने का प्रयास किया। इस दौरान पूर्व विधायक संयम लोढ़ा बेरिकेट पार कर परिसर में भी पहुंच गए। वहां उनकी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से जोरदार बहस हो गई। बाद में पुलिस अधिकारियों ने लोढ़ा से समझाइश कर उन्हें वापस धरना स्थल भेजा। आखिरकार धरनार्थी बिना ज्ञापन दिए ही वापस लौट गए। लोगों ने कहा कि अब फिर से आंदोलन करने के लिए नई रणनीति बनाई जाएगी।

Hindi News/ Sirohi / सत्तुबाई हत्याकांड का ढाई माह बाद भी नहीं हुआ खुलासा, कलेक्ट्रेट पर हंगामा, पुलिस पर फेंकी गईं चूड़ियां

ट्रेंडिंग वीडियो