आरोपित शिक्षक ने आखिरकार न्यायालय में किया सरेंडर


योगाचार्य पूरन चित्तारा आत्महत्या प्रकरण...

By: mahesh parbat

Published: 16 May 2018, 08:49 AM IST

शिवगंज. बहुचर्चित योगाचार्य पूरन चित्तारा आत्महत्या प्रकरण में मुख्य आरोपित शिक्षक शिवदयाल सोनी ने राजस्थान उच्च न्यायालय में अग्रिम जमानत याचिका खारिज हो जाने के २२ दिन बाद आखिरकार सिरोही जिला मुख्यालय स्थित एससीएसटी कोर्ट में सरेंडर कर दिया। सरेंडर के बाद न्यायालय ने उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजते हुए पुलिस को बुधवार को केस डायरी पेश करने के आदेश दिए हैं। पुलिस निरीक्षक चंपाराम ने बताया कि आरोपित शिक्षक शिवदयाल सोनी के सिरोही स्थित एससीएसटी कोर्ट में सरेंडर करने की जानकारी मिली है। इस मामले की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पन्नालाल मीना कर रहे हैं और वे अवकाश पर है। इस वजह से आरोपित शिक्षक के सरेंडर किए जाने पर मंगलवार को केस डायरी अदालत में पेश नहीं की जा सकी। बुधवार को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के कार्य पर लौटने के बाद अदालत में केस डायरी पेश कर आरोपित शिक्षक की नियमानुसार गिरफ्तारी की जाएगी। संभवत: पुलिस आरोपित शिक्षक से पूछताछ के लिए उसे पुलिस अभिरक्षा में ले सकती है।
कई दिनों से था फरार
गौरतलब है कि आरोपित शिक्षक शिवदयाल सोनी योगाचार्य की ओर से ७ फरवरी को आत्महत्या किए जाने के बाद फरार हो गया था। बाद में उच्च न्यायालय ने उसकी गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए पुलिस से केस डायरी अदालत में पेश करने के निर्देश दिए थे। पुलिस की ओर से २३ अप्रेल को केस डायरी पेश किए जाने पर कोर्ट से उसकी गिरफ्तारी से रोक हटाते हुए उसे सरेंडर करने के निर्देश दिए थे, लेकिन शिक्षक सोनी ने सरेंडर नहीं किया और उच्च न्यायालय में ही अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी। विगत २५ अप्रेल को उसकी जमानत याचिका भी खारिजहो गई।
दी थी चेतावनी
मामले को लेकर आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने पर तीन दिन पूर्व डॉ अंबेडकर सेवा समिति ने आरोपित शिक्षक को गिरफ्तार नहीं किए जाने पर रोष व्यक्त करते हुए आंदोलन की चेतावनी दी थी।
यह था मामला
जिले में जाने माने योग शिक्षक पूरन चित्तारा ने ७ फरवरी को घर के कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। मृत्यु पूर्व लिखे पत्र में आत्महत्या के लिए उन्होंने शिक्षक शिवदयाल सोनी को जिम्मेदार बताया था। जांच के दौरान पुलिस को चित्तारा के परिजनों की ओर से कुछ सबूत भी सौंपे गए थे। जिससे यह प्रतीत होता था कि आरोपित शिक्षक और चित्तारा की पत्नी के बीच कई बार बातचीत होती थी। इससे व्यथित होकर चित्तारा ने आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने मामले में चित्तारा की पत्नी श्रीमती लता को भी सह आरोपी बनाते हुए उसे पूर्व में ही गिरफ्तार कर लिया था, जो फिलहाल जमानत पर है।

mahesh parbat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned