युवाओं की पहल दिखा रही जीवन जीने की सही राह

युवाओं की पहल दिखा रही जीवन जीने की सही राह

Bharat Kumar Prajapat | Publish: Jan, 14 2018 10:33:10 AM (IST) Sirohi, Rajasthan, India

सामाजिक मुद्दों को लेकर बनाई फिल्म

सिरोही. आज कल युवाओं के लिए शॉर्ट फिल्म्स और यूट्यूब कमाई का जरिया बनी हुई हैं, लेकिन सिरोही शहर के कुछ युवा पैसों के लिए नहीं बल्कि समाज को जागरूक करने के लिए शॉर्ट फिल्म बना रहे हैं। ये युवा स्वयं को बुलंदी तक पहुंचाने के लिए जतन करने के साथ ही लोगों को सही राह दिखाने के लिए भी जी-जान लगा रहे हैं। इनके पास पर्याप्त संसाधन भी नहीं है। लेकिन कैमरा-मोबाइल के जरिए पूरी फिल्म रिकॉर्ड करते हैं और खुद ही एडिट कर यू ट्यूब पर अपलोड करते हैं। इनता ही नहीं समाज को जागरूक करने वाले विषयों को लेकर खुद ही स्क्रिप्ट लिखते हैं। इसके बाद मिलकर शॉर्ट फिल्म तैयार करते हैं। साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाले निशांत सुमन, राहुल परिहार, डीके एम दीवान अब तक पांच शॉर्ट मूवी बना चुके हैं। जिसे यूट्यूब पर अब तक हजारों लोग देख चुके हैं।

समाज में बदालव लाना ही असली मकसद
निशांत का कहना है कि उन्हें लगा कि समाजिक मुद्दों को लेकर युवाओं व लोगों का जागरूक करने के लिए कुछ करना चाहिए। इसके लिए उन्होंने दोस्तों अपने साथ जोड़ा। उन्होंने बताया कि भाषण-लेखन के जरिए भी लोगों को जागरूक किया जा सकता है, लेकिन इसका प्रभाव कम रहता है। लेकिन नाट्य रूपांतरण का अधिक प्रभाव पड़ता है। ऐसे में उन्होंने शॉर्ट फिल्मों के जरिए लोगों को संदेश देने की ठानी।

नशा मुक्ति का भी प्रयास
जिले में युवाओं में बढ़ते ड्रग्स के चलन को लेकर नशा मुक्ति के लिए भी शॉर्ट फिल्म के माध्यम से मुहिम चलाई। जिसमें नशा करने वाले की दशा, परिवार की स्थिति व आस-पास के लोगों पर पडऩे वाले प्रभाव को लेकर शॉर्ट मूवी बनाई और युवाओं को नशे से दूर रहने का संदेश दिया।

यह भी बना चुके हैं शॉर्ट मूवी
दोस्तों ने मिलकर सबसे पहले वर्ष २०१६ में राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान करने का संदेश देने वाली एक शॉर्ट फिल्म बनाई थी। इसकी स्क्रिप्ट दोस्तों ने मिलकर ही तैयार की थी। इसके बाद सडक़ दुर्घटनाओं में कमी लाने के उद्देश्य को लेकर लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए ‘सडक़ सुरक्षा’ शॉर्ट फिल्म बनाई। इन युवाओं की ओर से स्वच्छता अभियान, पीओपी की मूर्तियां नहीं बनाने का संदेश देने वाली शॉर्ट फिल्में बनाई जा चुकी है।

अब दिखाएंगे किसान-बाल श्रमिक का दर्द
जिले के किसानों का दर्द और उनकी समस्याओं को लेकर भी इन युवाओं की ओर से शॉर्ट फिल्म बनाईजाएगी। छोटी-छोटी फिल्मों के जरिए समाज को अपने अभिनय से संदेश देने वाले इन युवाओं ने अब किसानों के दर्द और उनके परिवार के संघर्ष की कहानी को नाट्य रूपांतरण में दिखाएंगे। फिलहाल, इन युवाओं की ओर से ‘बाल श्रमिक’ शॉर्ट फिल्म की शूटिंग की जा रही है। जिसमें बाल श्रमिक बनने की वजह और उसकी जिंदगी का चित्रण दिखाया जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned