SIROHI- जिले के तीन दर्जन जीएसएस में नहीं बने शौचालय

Bharat kumar prajapat

Publish: Nov, 15 2017 10:37:35 (IST)

Sirohi, Rajasthan, India
SIROHI- जिले के तीन दर्जन जीएसएस में नहीं बने शौचालय

कर्मचारी खुले मेेंं निवृत्त होने को मजबूर

सिरोही. जिले को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) करने में सरकारी महकमा ही रोड़ा बना हुआ है। प्रशासनिक अमला रात-दिन मेेहनत कर रहा है लेकिन डिस्कॉम शौचालय निर्माण से अब भी दूरी बनाए हुए है। जिले के ऐसे कई ३३ केवी के जीएसएस हैं जहां कार्मिक आवासों मेंं अब तक शौचालय तक नहीं हंै। मजबूरी में इन कार्मिकों को खुले में निवृत्त होना पड़ता है। अधिकारियों की मानें तो पुराने भवन के नक्शों मेंं शौचालय निर्माण का प्रावधान ही नहीं था। केन्द्र की ओर से चलाए स्वच्छता अभियान का मुख्य उद्देश्य सफाई के साथ देश को खुले में शौच से मुक्ति दिलाना था लेकिन डिस्कॉम जैसे महत्वपूर्ण महकमे के कार्मिक खुले में शौच जाते हैं। जीएसएस पर आवासीय भवनों में पानी तथा बिजली की व्यवस्था तो कर दी लेकिन शौचालय का निर्माण नहीं किया जबकि सरकारी भवनों के निर्माण मेंं शौचालय बनाने की गाइडलाइन वर्षों पूर्व से तय है। जिले में करीब तीन दर्जन जीएसएस पर आवासों मेंं शौचालय नहीं हैं।

स्टोर को बनाया शौचालय
जिला मुख्यालय पर हालत कुछ और है, यहां एईएन से शौचालय के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि हमारे यहां सभी जगह पर शौचालय बने हुए हैं। गोयली चौराहे पर अलग से कमरा नहीं होने के कारण स्टोर वाले कमरे को शौचालय बनाया है।

इनमें नहीं है व्यवस्था
पिण्डवाड़ा के वीरवाड़ा तथा बनास, सरूपगंज के ४ जीएसएस शौचालय विहीन हैं। शिवगंज के पंचदेवल, पोसालिया, रीको, रेवदर के मालवा, पामेरा, मंडार के मंडार, भटाणा, झालमपुरा, रायपुर , निम्बज, जैतावाड़ा, सोरड़ा, गूंदवाड़ा, निमतलाई, रायपुर, मगरीवाड़ा, आबूरोड के डेरना, कारोली, आरपीएल आईओसी, आमलारी, सिरोही के कृष्णगंज, मडिया, कालन्द्री, पाड़ीव, खाम्बल, सिंदरथ समेत कई स्थानों पर शौचालयों का निर्माण नहीं होने के कारण कार्मिकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

एईनए ने बताई समस्या
जीएसएस में शौचालय नहीं होने पर पत्रिका टीम ने जब पिण्डवाड़ा, सिरोही, शिवगंज, रेवदर, मंडार, सरूपगंज के एईएन से बात की तो कारण बताए तथा नए भवनों में शौचालय निर्माण की बात कही।

इनका कहना है...
शौचालय निर्माण के लिए कई बार उच्च अधिकारियों से चर्चा की है। कर्मचारियों को शौच के लिए सवेरे-शाम भटकना पड़ रहा है। शौचालयों का निर्माण नहीं करवाया तो प्रदर्शन किया जाएगा।
- मोहनलाल माली, अध्यक्ष जोधपुर विद्युत वितरण श्रमिक संघ, सिरोही

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned