सीबीआई ने राम रहीम की मौजूदगी में पढ़े गवाहों के बयान

Shankar Sharma

Publish: Sep, 16 2017 11:36:55 (IST)

Sirsa, Haryana, India
सीबीआई ने राम रहीम की मौजूदगी में पढ़े गवाहों के बयान

साध्वी यौन शोषण मामले में सजा भुगत रहे गुरमीत राम रहीम सिंह आज दोहरे हत्याकांड के मामले में वीडियो कान्फ्रैंसिंग के माध्यम से सीबीआई कोर्ट में पेश हुए

चंडीगढ़। साध्वी यौन शोषण मामले में सजा भुगत रहे गुरमीत राम रहीम सिंह आज दोहरे हत्याकांड के मामले में वीडियो कान्फ्रैंसिंग के माध्यम से सीबीआई कोर्ट में पेश हुए। सीबीआई कोर्ट ने मामले में कई नए मोड़ आने के बाद रणजीत सिंह हत्याकांड व पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड की सुनवाई अलग-अलग निर्धारित कर दी है।


अब रणजीत सिंह हत्याकांड की सुनवाई जहां सोमवार को होगी वहीं छत्रपति हत्यकांड की अगली सुनवाई 22 सितंबर को रखी गई है। दोनों मामलों में सीबीआई अपना पक्ष रखेगी। पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या आरोप में निर्मल सिंह, कृष्ण लाल और कुलदीप और डेरा प्रबंधक रणजीत सिंह की हत्या आरोप में कृष्ण लाल, अवतार सिंह, जसबीर, सबदिल और इन्द्रसेन को कोर्ट में पेश किया गया।


साध्वी यौन शोषण मामले में डेरा मुखी को बीस साल की सजा सुनाने वाले जज जगदीप सिंह की अदालत में आज रणजीत सिंह हत्याकांड व रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड पर सुनवाई शुरू हुई। इसी बीच राम रहीम का पूर्व चालक रहा खट्टा सिंह अदालत में पेश हुआ और उसने कहा कि वह फिर से बयान देना चाहता है।


खट्टा सिंह ने अदालत को कहा कि उसने राम रहीम के डर से 7 बार अपने बयान बदले थे लेकिन अब वे दोबारा अपनी गवाही देना चाहते हैं। खट्टा सिंह ने याचिका में कहा कि 2012 में वह इन दोनों हत्याओं के मामलों में अपने बयान से पलट गया था क्योंकि उसे लगातार गुरमीत राम रहीम के गुर्गों की तरफ से डराया धमकाया जा रहा था।


साथ ही जान से मारने की धमकी दी जा रही थी लेकिन अब गुरमीत राम रहीम जेल जा चुका है और ऐसे में वो इन दोनों ही हत्या के मामलों में एक बार फिर से अपना स्टेटमेंट कोर्ट को देना चाहता है। सुनवाई के दौरान अदालत ने 22 सितंबर को अगली सुनवाई तय की है। 22 सितंबर को कोर्ट तय करेगा कि खट्टा सिंह गवाही दे सकेंगे या नहीं। अब छत्रपति केस की सुनवाई भी 22 सितंबर को ही होगी।


इसके बाद अदालत ने रणजीत सिंह हत्याकांड में कार्रवाई को आगे बढ़ाया। इस केस में सुनवाई के दौरान सीबीआई के वकील एचपीएस वर्मा ने सभी पक्षों तथा आरोपी राम रहीम की मौजूदगी में गवाहों के फाइनल बयान पढक़र सुनाने शुरू किए। इस दौरान राम रहीम रोहतक की सुनारियां जेल से वीडियो कान्फ्रैंसिंग के माध्यम से अदालत में हाजिर रहे। इस केस में कुल 60 गवाह हैं। जिनमें से 31 गवाहों के बयान आज अदालत में पढक़र सुनाए गए। अदालत की कार्रवाई करीब चार बजे तक चली। इस बीच अदालत ने रणजीत हत्याकांड की अगली सुनवाई सोमवार को फिर से निर्धारित की है।


राम रहीम की तरफ से पेश हुए हरियाणा के पूर्व डीएजी
बलात्कार के मामले में सीबीआई कोर्ट द्वारा सजा सुनाए जाने के बाद राम रहीम की अटैची उठाने के कारण नौकरी गंवाने वाले राम रहीम के रिश्तेदार एवं हरियाणा के पूर्व उप-महाधिवक्ता गुरदास सिंह सलवारा ने आज अपनी रिश्तेदारी अथवा भक्ति पूरी तरह से निभाई। वह अदालत में राम रहीम की तरफ से खड़े हुए वकीलों के पैनल में शामिल होकर यहां पहुंचे और सीबीआई वकील के साथ बातचीत की।

कमर दर्द से पीडि़त है राम रहीम,लिया ब्रेक
रोहतक की सुनारियां जेल में बंद गुरमीत राम रहीम इस समय कमर दर्द से पीडि़त है। आज दोहरे हत्याकांड के मामले में राम रहीम वीडियो कान्फ्रैंसिंग के माध्यम से अदालत में पेश हुआ। अदालत की कार्यवाही काफी देर तक चलती रही। जिसके चलते राम रहीम ने वीडियो कान्फ्रैंसिग के दौरान ही कहा कि उसे कमर में कुछ तकलीफ हो रही है, और वह दस मिनट के लिए ब्रेक चाहता है।

इस बीच उनके वकील ने कहा कि अगर वह चाहते हैं तो अदालत को आग्रह करके दस मिनट के लिए कार्यवाही को रोका जा सकता है। इस पर राम रहीम ने इनकार करते हुए कहा कि आप अपनी बातचीत जारी रखिए। इसके बाद राम रहीम रोहतक जेल में मौजूद स्टाफ की मदद से कुछ देर के लिए वीडियो कान्फ्रंैसिंग रूम से बाहर गया। करीब दस मिनट बाद राम रहीम फिर से कैमरे के सामने आकर अदालत की कार्यवाही में शामिल हो गया। पूरी कार्यवाही के दौरान गुरमीत राम रहीम सिर झुकाए हाथ जोडक़र बैठा रहा। वह मानसिक तौर पर पहले से काफी कमजोर लग रहा था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned