एक सप्ताह के भीतर आएगी डेरा की सर्च रिपोर्ट

डेरा सच्चा सौदा की सर्च पूरी होने के बाद अब सभी की निगाहें उस रिपोर्ट पर लग गई हैं जिसे कोर्ट कमिश्नर द्वारा दाखिल किया जाएगा

By: शंकर शर्मा

Published: 11 Sep 2017, 10:44 PM IST

चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा की सर्च पूरी होने के बाद अब सभी की निगाहें उस रिपोर्ट पर लग गई हैं जिसे कोर्ट कमिश्नर द्वारा दाखिल किया जाएगा। सोमवार को दिनभर इन अटकलों का दौर जारी रहा कि कोर्ट कमिश्नर द्वारा किसी भी समय रिपोर्ट दाखिल की जा सकती है लेकिन उन्होंने यह साफ कर दिया है कि रिपोर्ट दाखिल करने में करीब एक सप्ताह का समय लग सकता है।


सिरसा स्थित डेरासच्चा सौदा में तीन दिन तक चली सर्च रविवार को बाद दोपहर समाप्त हो गई। डेरे की तमाम संपत्ति का मालिकाना हक किसी एक व्यक्ति का नहीं है। इसके सैकड़ों मालिकान होने की वजह से हाईकोर्ट यह भी गाइड लाइन जारी कर सकता है कि प्रदेश भर में हुए नुकसान की भरपाई इन सभी मालिकान से की जाए या नहीं।


कोर्ट कमिश्नर एकेएस पंवार ने मीडिया से हुई अनौपचारिक बातचीत में खुलासा किया कि डेरे में सर्च का काम दस टीमों को बनाकर किया गया है। उन्होंने दसों टीमों द्वारा अपनी-अपनी सर्च रिपोर्ट तैयार की जा रही है। यह रिपोर्ट एक-दो दिन में आ जाएगी। दस टीमों की अलग-अलग रिपोर्ट के आधार एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार की जाएगी। हाईकोर्ट में यह रिपोर्ट भले ही सीलबंद लिफाफे में दी जाएगी, लेकिन राज्य सरकार इसे पब्लिक डोमिन पर इसलिए डाल सकती है, ताकि लोगों में यह संदेश जाए कि ऐसा कुछ नहीं मिला, जिस तरह की आशंका जताई जा रही थी।


उस रिपोर्ट को सीलबंद लिफाफे में हाईकोर्ट में दाखिल किया जाएगा। उन्होंने डेरे में खुदाई न किए जाने के संबंध में कहा कि यह अदालत का अधिकार क्षेत्र है कि वह खुदाई करवाना चाहती है अथवा नहीं। इस संबंध में अगर कोई निर्देश मिलता है तो कार्रवाई की जाएगी।


सूत्रों के अनुसार इस रिपोर्ट में इन तथ्यों का भी जिक्र रहेगा कि डेरे की कहां और कितनी प्रापर्टी है और उसके कितने मालिक हैं। सैकड़ों लोग ऐसे हैं, जिन्होंने अपनी प्रापर्टी डेरे के नाम कर दी, लेकिन अब खुद वह तंगहाली की जिंदगी जी रहे हैं।


डेरे में पुरानी करेंसी, वन्य प्राणी, सुरंग, एके 47 के खाली बाक्स, ओबी वैन और वाकी टाकी समेत कई ऐसी चीजें मिली हैं, जिनके आधार पर यदि सरकार चाहे तो आरोपी बाबा व डेरा संचालकों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो सकता है। सरकार ने अभी तक डेरा प्रमुख को देशद्रोह का आरोपी नहीं बनाया है।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned