सलाखों के पीछे हनीप्रीत, न मिला लैपटॉप न मिली डायरी

Shankar Sharma

Publish: Oct, 13 2017 10:20:05 (IST)

Sirsa, Haryana, India
सलाखों के पीछे हनीप्रीत, न मिला लैपटॉप न मिली डायरी

देशद्रोह की आरोपी हनीप्रीत के साथ दस दिन तक माथापच्ची करने के बाद भी पुलिस न तो हनीप्रीत का लैपटॉप बरामद कर सकी है और न ही पुलिस को वह डायरी मिली

चंडीगढ़। देशद्रोह की आरोपी हनीप्रीत के साथ दस दिन तक माथापच्ची करने के बाद भी पुलिस न तो हनीप्रीत का लैपटॉप बरामद कर सकी है और न ही पुलिस को वह डायरी मिली है जिसमें डेरा मुखी की समूची संपत्ति व कारोबार का ब्यौरा दर्ज है।


दस दिन के रिमांड के दौरान पुलिस केवल एक मोबाइल फोन बरामद कर पाई है। उसका रिकार्ड भी अभी तक रिकवर नहीं किया गया है। यह मोबाइल पूरे मामले की जांच में कितना मददगार होगा, यह आने वाला समय बताएगा। पंचकूला की अदालत ने आज हनीप्रीत व उसकी सहयोगी सुखदीप कौर को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। अब दोनों अंबाला जेल में रहेंगी। इस केस की अगली सुनवाई 23 अक्तूबर को होगी जिसमें हनीप्रीत को सुरक्षा कारणों के चलते वीडियो कान्फ्रैंसिंग के माध्यम से पेश किया जाएगा।


तीन दिन का पुलिस रिमांड पूरा होने के बाद आज हनीप्रीत और सुखदीप कौर भारी सुरक्षा के बीच पंचकूला कोर्ट में पेश किया गया। तमाम अटकलों के विपरीत कोर्ट से हनीप्रीत का और पुलिस रिमांड नहीं मांगा गया। बचाव पक्ष के वकील एस.के.गर्ग नरवाना ने कोर्ट में हुई कार्रवाई के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने कोर्ट को बताया गया कि उसे अब हनीप्रीत के रिमांड की जरूरत नहीं है। पुलिस ने अदालत को बताया कि हनीप्रीत की निशानदेही पर एक मोबाइल फोन बरामद किया गया है। जिसका रिकार्ड निकलवाया जा रहा है।


पुलिस की ओर से वकील पंकज गर्ग ने कहा कि हनीप्रीत से क्या कुछ रिकवर हुआ है यह भी नहीं बताया जा सकता और अगली पेशी वीडियो कॉन्फ्रैंसिंग के जरिए करवाई जा सकती है। सरकारी वकील ने यह स्वीकार किया कि हनीप्रीत ने पहले रिमांड के दौरान पुलिस को कोई खास सहयोग नहीं किया लेकिन दूसरे रिमांड के दौरान हनीप्रीत ने कई अहम जानकारियां मिल गई हैं। जिनके आधार पर इस केस की जांच को आगे बढ़ाया जाएगा।


बीती तीन अक्तूबर को जीरकपुर से हनीप्रीत व सुखदीप को गिरफ्तार करने के बाद एसआईटी निशानदेही के लिए दोनों आरोपियों को पंजाब व राजस्थान लेकर गई थी। इस बीच हनीप्रीत ने पुलिस को एक डायरी,लैपटॉप तथा मोबाइल के बारे में बताया लेकिन पुलिस केवल मोबाइल फोन ही बरामद कर सकी है।


दिलचस्प बात यह है कि लैपटॉप में पंचकूला हिंसा की रणनीति,पंचकूला का नक्शा था। पुलिस को लैपटॉप व डायरी बरामद नहीं हुई। जिसके चलते हनीप्रीत को आज न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। अब हनीप्रीत व सुखदीप अंबाला स्थित केंद्रीय कारागार में रहेंगी।

हनीप्रीत ने बढ़ाई विपसना की मुश्किलें
पुलिस द्वारा दो बार समन जारी करने के बाद डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपसना इंसा आज सुबह करीब 11 बजे पंचकूला के सैक्टर-23 स्थित पुलिस थाने में पहुंची। जहां पुलिस ने पहले विपसना और हनीप्रीत से एक जैसे सवाल अलग-अलग पूछे और फिर दोनों को आमने-सामने बिठाकर पूछताछ की।

विपसना के पूछताछ में शामिल होने को पूरे मामले की अहम कड़ी माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि आज जब एसआईटी ने हनीप्रीत से पूछताछ की तो उसने कहा कि पंचकूला में पेशी पर आने से पहले अपना लैपटॉप व बैग विपसना को देकर आई थी। हनीप्रीत ने यह बयान आज पुलिस द्वारा उसे अदालत में पेश किए जाने से कुछ समय पहले ही दिया। जिसके बाद पुलिस ने विपसना इंसा को पूछताछ के लिए अपने पास बिठा लिया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned