महिला श्रमिकों को कार्यस्थल पर मिलेंगे सैनेटरी नैपकिन

स्कूली छात्राओं को मासिक धर्म के दौरान होने वाली बीमारियों से बचाव के लिए छठी से 12वीं कक्षा तक की सभी छात्राओं को महीने में छह सेनेटरी पैड मुफ्त मुहैया करवाने की योजना बनाई है।

चंडीगढ़. हरियाणा सरकार ने प्रदेश में कार्यरत लाखों महिला श्रमिकों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए उन्हें कार्यस्थल पर ही सैनेटरी नैपकिन मुहैया करवाने का फैसला किया है। इसके लिए महिला शौचाल्यों के बाहर सैनेटरी नैपकिन मशीनें लगाई जाएंगी, ताकि माहवारी के दौरान महिला श्रमिकों की परेशानी को दूर किया जा सके। श्रम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार करीब 45 दिन बाद इस योजना को पूरे प्रदेश में लागू कर दिया जाएगा।

हरियाणा में बतौर श्रमिक कार्य करने वाली महिलाओं को अक्सर माहवारी के समय कई तरह की दिक्कतें पेश आती थी। ऐसे में समस्याओं के निदान के लिए योजना लागू की जा रही है। उपयोग किए गए नैपकिन के संग्रह के लिए विशेष कूड़ेदान उपलब्ध करवाए जाएंगें। निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार उपयोग किए नैपकिनों का निस्तारण किया जाएगा।


छात्राओं को हर माह मिलेंगे 6 पैड


स्कूली छात्राओं को मासिक धर्म के दौरान होने वाली बीमारियों से बचाव के लिए छठी से 12वीं कक्षा तक की सभी छात्राओं को महीने में छह सेनेटरी पैड मुफ्त मुहैया करवाने की योजना बनाई है। मनोहर सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले विधानसभा सत्र के दौरान राज्यपाल द्वारा पेश किए विजन डाक्यूमेंट में यह ऐलान किया गया था। जिसे चरणबद्ध तरीके से लागू किया जा रहा है। स्कूलों में मशीनें लगाकर उन्हें ये पैड उपलब्ध करवाए जाएंगे।


हरियाणा की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
जम्मू कश्मीर की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...

Show More
Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned