यूपी के इस जिले में नहीं थम रहा बुखार का प्रकोप,24 लोगों की मौत का आंकड़ा पार

Nitin Srivastva

Publish: Sep, 16 2018 04:38:22 PM (IST)

Sitapur, Uttar Pradesh, India

सीतापुर- मिश्रिख और गोंदलामऊ विकास खंड में बीती रात बुखार से हुयी 4 बच्चों की मौत से अब यह आंकड़ा 24 पहुँच गया हैं। विकासखंडों के तकरीबन दो दर्जन से अधिक गांव संक्रामक बीमारियों की चपेट में हैं। संक्रामक रोगों ने पिछले एक महीने में बच्चों और बुजुर्गों समेत महिलाओं को अपनी चपेट में ले लिया हैं। स्वास्थ्य महकमा इन मौतों के बाद भी कोई ठोस कदम उठाने के बजाय कैंपिंग करके ग्रामीणों को लाल-पिली दवाइयां बांटने का काम कर रहा हैं।


संक्रामक बुखार ने पसार लिए हैं अपने पैर

संक्रामक बुखार ने अब जनपद के विकास खण्ड मछरेहटा,रेउसा व मिश्रिख में भी पाव पसार दिया हैं। इन विकास खण्ड क्षेत्र के करीब दो दर्जन गांवों में लोग बुखार की चपेट में आ चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इस बीमारी पर काबू पाने में नाकाम साबित हो रहे हैं इसीलिए लगातार इस बुखार का प्रकोप फैलता जा रहा हैं। इसी के चलते अब तक इस बुखार से 24 लोगों की मौत हो चुकी हैं। वही जिले के सैकडों गांवों में इस बुखार से हजारों की संख्या में लोग ग्रसित हो चुके हैं और लगातार इस संख्या में इजाफा हो रहा हैं।

 

पिछले 24 घंटों में इन गांवों में गई 4 लोगों की जान

विकास खण्ड गोंदलामऊ के रघुनाथपुर हरिहरपुर गांव निवासी धर्मेंद्र का दो माह का पुत्र रितेश एक सप्ताह से बुखार से पीडित था जिसकी मौत हो गई। वहीँ दूसरा कुनेरा गांव निवासी सुमन 25 पुत्री बुद्धा पिछले पांच दिनों से बीमार थी जिसकी आज मौत हो गई। वही गोलू 12 पुत्र हरिश्चंद्र निवासी अकबरपुर कोतवाली मिश्रिख जो विकास खण्ड गोंदलामऊ क्षेत्र के अर्थापुर गांव निवासी जो पिछले तीन दिनों से बुखार की चपेट में बना हुआ था जिसे सीएचसी मिश्रिख इलाज के लिए ले जाया गया तो रास्ते में ही मौत हो गई। वही विकास खण्ड मछरेटा क्षेत्र रामपुर गांव निवासी अर्जुन की 12 वर्षीय पुत्र प्रेमा देवी को करीब दस दिन से बुखार आ रहा था. आज बुखार से हालत गम्भीर होने पर रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी।

Ad Block is Banned