अखिलेश यादव ने जेल में मुलाकात के बाद कहा - आजम खान की पत्नी का स्वास्थ्य ठीक नहीं, बेटे को भी लगी है चोट

फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के केस में कोर्ट में बुधवार को समर्पण करने के बाद समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां को उनकी पत्नी व बेटे के साथ रामपुर से गुरुवार तड़के सीतापुर की जेल में शिफ्ट कर दिया गया।

By: Abhishek Gupta

Published: 27 Feb 2020, 04:51 PM IST

सीतापुर. फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के केस में कोर्ट में बुधवार को समर्पण करने के बाद समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां को उनकी पत्नी व बेटे के साथ रामपुर से गुरुवार तड़के सीतापुर की जेल में शिफ्ट कर दिया गया। भारी सुरक्षा के बीच आजम खां का पूरा परिवार सीतापुर जेल पहुंचा। यहां पिता व पुत्र जेल की विशेष सुरक्षा बैरिक में रखे गए हैं, तो वहीं पत्नी विधायक तंजीन फातिमा महिला वार्ड में हैं। दोपहर में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव उनसे मिलने सीतापुर आए। अखिलेश के साथ नौ लोगों ने जेल के अंदर आजम खां से भेंट की। सपा के कद्दवार नेता से मिलने के बाद अखिलेश यादव ने भाजपा पर आजम खां के खिलाफ राजनीतिक षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया। उन्होंने न्यायपलिका पर भरोसा जताते हुए कहा कि आजम खां व उनके परिवार को इंसाफ मिलेगा। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि आजम की पत्नी की तबियत ठीक नहीं हैं।

ये भी पढ़ें- दिल्ली हिंसा के लिए मायावती ने अरविंद केजरीवाल से कहा यह, अखिलेश ने राष्ट्रपति से वार्ता के लिए मांगा समय

आजम की पत्नी की तबियत ठीक नहीं-

आजम खां से मिलने के बाद अखिलेश ने भाजपा पर हमला करते हए कहा कि आजम के खिलाफ भाजपा ने षणयंत्र किया है। षणयंत्र के तहत उन्हें फंसाया गया। इसी कारण उन्हें आज जेल में रहना पड़ रहा है। राजनीति में इस तरह से बदले की भावना से काम नहीं होना चाहिए। भाजपा सरकार बनने के बाद ही उनपर (आजम) तमाम मुकदमे दर्ज किए गए व उन्हें फंसाया गया है। यह नहीं भूलना चाहिए कि भाजपा के नेता ने उनके खिलाफ शिकायत की थी। भाजपा सरकार की आजम से दुश्मनी है। उन्होंने आगे कहा कि हमें कोर्ट से न्याय की उम्मीद है। साथ ही उन्होंने कहा कि आजम की पत्नी की तबियत ठीक नहीं हैं। बेटे के हाथ में भी चोट है। मुझे उम्मीद है कि जेल प्रशासन प्रोटोकॉल के तहत जो सहूलियतें देनी चाहिए वह देगी।

ये भी पढ़ें- पूर्व मंत्री का बड़ा बयान, भाजपा वोट की राजनीति के लिए करवाती है दंगा

हिंदू-मुस्लिमों में दूरिया बनाकर राजनीति करना चाहती है भाजपा- अखिलेश-
सीएम योगी के किसी भी रूप में गंदगी के साफ करने वाले बयान पर अखिलेश ने कहा कि राजनीतिक मर्यादा में रहकर क्या बोलना चाहिए, यह मुख्यमंत्री को पता नहीं है। दिल्ली दंगों पर अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार अगर चाहती तो दंगे रोके जा सकते थे। दिल्ली में एक लाख से भी ज्यादा पुलिस जवान तैनात हैं, लेकिन उसके बावजूद दंगे हुए। उन्होंने आगे कहा कि भाजपा लोगों को डराकर व उनमें नफरत फैलाकर राजनीति करना चाहती है। हिंदू-मुस्लिमों में दूरिया बनाकर राजनीति करना चाहती है। यह उनका तरीका है क्योंकि जब दंगे होंगे तो लोग विकास की बात भूल जाएंगे। प्रदेश में जिस इन्वेस्टमेंट की बात हो रही वह दंगे के कारण छुप जाएगी।

स्वामी विवेकानंद की बात भाजपा भूल जाएगी-
अखिलेश ने इस दारौन डोनाल्ड ट्ंप द्वारा स्वामी विवेकानंद का नाम लिए जाने पर कहा कि क्या स्वामी विवेकानंद की बात भारतीय जनता पार्टी भूल जाएगी। विवेकनांद ने अपने आखिरी भाषण में यह भी कहा कि हमारे देश में धर्म बहुत हैं, हमें धर्म की नहीं रोटी की जरूरत है। तमिल नाडू में एक लाख से ज्यादा हिंदू है जो श्रीलंका से आए हैं, उन्हें नागरिकता मिलेगा कि नहीं।

BJP Donald Trump
Show More
Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned