इस जिले तक पहुंची प्रदेश में नाम बदलने की लहर, अब इस जगह को मिला नया नाम

जिला प्रशासन ने इस भवन को अपने कब्जे में लेकर बदल डाला इसका नाम

सीतापर। जिला प्रशासन ने कुछ दिन पूर्व अवैध कब्जे को लेकर अतिक्रमण हटाने का अभियान शुरू किया था। इसी दौरान वकीलों के संरक्षण में चल रहे सीतापुर क्लब को प्रशासन ने अपने कब्जे में लेकर उसके परिसर में बने होटल को अवैध करार देते हुए उसे अतिक्रमण अभियान में गिरा दिया था। जिला प्रशासन ने सीतापुर क्लब को अपने कब्जे में लेकर आज क्लब का नाम बदलने का कार्य किया हैं। जिला प्रशासन का कहना हैं कि पहले वह अवैध कब्जे के रूप में चल रहा था और अब प्रशासन ने उसे अपने कब्जे में ले लिया हैं इसलिए प्रशासन के कार्यों के रूप में लिया जायेगा इसलिए इसका नाम बदलने का कार्य किया गया हैं।


सीतापुर पहुंचा नाम बदलने का सिलसिला

वकीलों और पुलिस के बीच रार थमने का नाम नहीं ले रहा हैं वहीँ दूसरी और सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा नाम बदलने का सिलसिला शुरू हुआ था। आज यह सिलसिला सीतापुर जनपद तक पहुँच गया हैं आज सीतापुर जिला प्रशासन ने विवादित सीतापुर क्लब के नाम को बदलकर ऑफिसर्स हॉस्टल कर दिया हैं और एक नया बोर्ड ऑफिसर्स हॉस्टल के नाम से लगा दिया हैं।

 

वकीलों और पुलिस के बीच नहीं थम रही रार-

सीतापुर क्लब पर प्रशासन ने अपनी कब्जेदारी दिखाने के बाद कुछ वकीलों ने एसपी से साथ अभद्रता कर उनके पीआरओ को पीटने के काम किया था। जिसके बाद वकीलों ने अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाकर डीएम-एसपी के तबादलने की मांग की थी। पिछले 15 दिनों से वकील हड़ताल पर हैं और क्लब का नाम बदले जाने की खबर आज जंगल में आग की तरह फ़ैल चुकी हैं।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned