डीएम ने राजस्व वृद्धि को लेकर की अधिकारियों के साथ बैठक, मूल्य नियंत्रण पर भी दिया जोर

डीएम ने नगरीय निकायों को वसूली बढ़ाने के निर्देश दिये,साथ ही वाणिज्य कर विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुये लक्ष्य से कम राजस्व अर्जित करने पर नाराजगी जाहिर करते हुए इसमें सुधार के निर्देश दिये।

सीतापुर. जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में प्रवर्तन कार्यों एवं कर-करेत्तर की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने वाणिज्य कर,स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन, आबकारी, परिवहन, वन विभाग, खनन, मण्डी समितियों एवं नगर निकायों द्वारा गत माह में अर्जित राजस्व एवं किये गये प्रवर्तन कार्यों की एक-एक करके समीक्षा की तथा निर्देश दिये कि माह के निर्धारित लक्ष्य को सभी विभाग पूर्ण करें।

डीएम ने की समीक्षा

डीएम ने नगरीय निकायों को वसूली बढ़ाने के निर्देश दिये,साथ ही वाणिज्य कर विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुये लक्ष्य से कम राजस्व अर्जित करने पर नाराजगी जाहिर करते हुए इसमें सुधार के निर्देश दिये। डीएम ने आबकारी,वन एवं खनन विभाग के अधिकारियों को प्रवर्तन कार्य बढ़ाने के निर्देश भी दिये। डीएम विशाल भारद्वाज की अध्यक्षता में दूसरी बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आलू, टमाटर एवं प्याज के बाजार भाव को नियंत्रित करने हेतु बैठक सम्पन्न हुयी, जिसमें जिला उद्यान अधिकारी सौरभ श्रीवास्तव द्वारा आलू बाजार भाव पर चर्चा करते हुए जनपद के निजी शीतगृहों में भण्डारित आलू एवं उसके सापेक्ष निकासी की स्थिति स्पष्ट की गयी। जिलाधिकारी द्वारा बैठक में उपस्थित शीतगृह स्वामियों से कहा गया कि अपने शीतगृह से आलू की निकासी में तेजी लाये जिससे आलू का बाजार भाव नियंत्रित हो सके। टमाटर व प्याज के बाजार भाव पर मण्डी सचिव के प्रतिनिधि से चर्चा करते हुए जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि आढ़तियों पर सख्ती करते हुए उनके पास भण्डारित प्याज व टमाटर को बाजार में विक्रय हेतु उपलब्ध कराया जाये।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned