आईजीआरएस डिफाल्टर मिलने पर इस जिले के डीएम ने लिया बहुत बड़ा एक्शन, 22 अफसरों पर गिरी गाज

जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज ने सीतापुर जिले के लापरवाह 22 असफरों को नोटिस देकर स्पस्टीकरण तलब किया है।

सीतापुर. जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज ने सीतापुर जिले के लापरवाह 22 असफरों को नोटिस देकर स्पस्टीकरण तलब किया है। डीएम ने इन सभी लापरवाह अफसरों द्वारा मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना आईजीआरएस में दिलचस्पी न लेने पर लापरवाही मानते हुए सभी को नोटिस थमाया हैं। डीएम द्वारा नोटिस थमाए जाने के बाद जिला प्रशासन के अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है।

इन अफसरों पर हुई कार्रवाई

सूबे की योगी सरकार जनता से सीधे सरोकार करने और उनसे जुड़ने के लिए जनता दर्शन का आयोजन करती है और उनकी समस्याओं का सीधा निराकरण करने के लिए आईजीआरएस पोर्टल की सुविधा लांच की थी लेकिन सीतापुर जिले के कुछ अफसर जनता से जुड़ी समस्याओं में दिलचस्पी न लेकर डिफॉल्टर की श्रेणी में आ चुके हैं। डीएम विशाल भारद्वाज ने इन अफसरों की स्क्रीनिंग करते हुए 22 अफसरों को डिफाल्टर मानते हुए नोटिस देकर स्पस्टीकरण तलब किया हैं।

अधिकारियों में हड़कंप

डीएम ने एसडीएम सदर, लहरपुर, तहसीलदार सदर, मिश्रिख, नायाब तहसीलदार मिश्रिख,बीडीओ कसमंडा, रेउसा, परसेंडी, सकरन, मछरेहटा, बेहटा महोली अधिकारी शामिल हैं। इसी तरह से नोटिस मिलने वालों में अन्य अधिकारी जैसे अधिशासी अधिकारी नगर पालिका महमूदाबाद, बिसवां, सीतापुर, एडीओ पंचायत पहला था रेउसा,एआर सहकारिता, जिला युवा कल्याण अधिकारी, अधिशासी अभियंता यांत्रिक सिंचाई, एआईजी स्टांप अधिशाषी अभियंता विधुत वितरण खंड प्रथम शामिल हैं। डीएम द्वारा इन लापरवाह अफसरों पर कार्रवाई के बाद जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है और सुस्त अफसरों ने अब काम मे तेजी पकड़ ली है।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned