64वें बलिदान दिवस पर याद किए गए डाॅ मुखर्जी

64वें बलिदान दिवस पर याद किए गए डाॅ मुखर्जी
Dr Mukherjee

Abhishek Gupta | Publish: Jun, 23 2016 05:16:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

मुखर्जी का सम्पूर्ण जीवन प्रेरणादायक - उमाकांत

सीतापुर। बीजेपी जिला कार्यालय पर 64वें बलिदान दिवस के अवसर पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा पूर्व जिला अध्यक्ष उमाकांत मिश्र एवं अध्यक्षता निवर्तमान जिला उपाध्यक्ष रामेन्द्र शुक्ल ने की। गोष्ठी से पूर्व भाजपा नेताओ एवं कार्यकर्ताओ द्वारा डाॅ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पाजंली कर अपने श्रद्धासुमन अर्पित किये गए। गोष्ठी में अपने विचार व्यक्त करते हुए पूर्व जिला अध्यक्ष उमाकांत मिश्र ने कहा कि डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सम्पूर्णजीवन प्रेरणादायक है।

उन्होने डा. मुखर्जी के सम्पूर्ण जीवन के विषय में अपने विचार रखते हुए कहा कि वह एक महान शिक्षाविद् थे, उन्होंने सदैव देश के विकास के लिए कार्य किया। गोष्ठी में जिला उपाध्यक्ष रामेन्द्र शुक्ला, गोविन्द भारती ने अपने श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि डाॅ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जनसंघ के संस्थापक थे। उन्होंने सदैव राष्ट्र की एकता और अखण्डता के लिए कार्य किया। हम सब उन्हें कोटी कोटी नमन करते है।

गोष्ठी का संचालन पूर्व महामंत्री विश्राम सागर राठौढ़ ने किया। गोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में प्रदेश कार्यसमिति सदस्य पूनम मिश्र, भाजपा युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष अचिन मेहरोत्रा, महिला मोर्चा अध्यक्षा इंदू सिंह चैहान, संजय मिश्रा, आशीष मिश्र, पूर्व संयोजक अंजनी शुक्ला, रामनरेश पाल, सिद्ध गोपाल, नीरज वर्मा, प्रदीप गुप्ता ने अपने विचार रखते हुए श्रद्धासुमन अर्पित किए। गोष्ठी में प्रमुख रूप अजय मिश्र दया, सुधीर सिंह, नेतराम राठौर, विकास यादव, सुधा रानी तोंमर, जया सिंह, मालती सिंह, केशा सिंह, सरिता सिंह, रीता आर्य, कमलेश टण्डन, श्रवण त्रिवेदी, सहित अन्य भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned