दो मासूम बच्चों के साथ चार महीनों से धरने पर बैठा है ये ड्राइवर, वजह ऐसी कि शर्म से सरकार का भी झुक जाएगा सिर

दो मासूम बच्चों के साथ चार महीनों से धरने पर बैठा है ये ड्राइवर, वजह ऐसी कि शर्म से सरकार का भी झुक जाएगा सिर

Nitin Srivastva | Updated: 20 Dec 2018, 11:13:25 PM (IST) Sitapur, Sitapur, Uttar Pradesh, India

दो मासूम बच्चों के साथ चार महीनों से धरने पर बैठा है ये ड्राइवर, वजह ऐसी कि शर्म से सरकार का भी झुक जाएगा सिर

Rep-Abhishek singh


सीतापुर। जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक की उदासीनता के चलते वहां तैनात वाहन चालक धरने पर बैठने को मजबूर हो गया हैं। उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक का वाहन चालक अपने परिवार और दो मासूम बच्चों के साथ पिछले 4 महीनों से कलेक्ट्रेट स्थित धरना स्थल पर अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठा हुआ हैं।

चालक का आरोप हैं कि जिला उद्योग केंद्र में महाप्रबंधक के वाहन चलाने के लिए उसे 22 अगस्त 2008 को अस्थाई रूप से कार्यालय में वाहन चालक के रूप में रखा गया था। चालक का आरोप हैं कि उसे पिछले कुछ माह पहले सेवा से बाहर कर दिया गया और दैनिक वेतन भी उसे नही दिया गया। चालक कैलाश कुमार का कहना हैं कि उसने अपनी मांगों को लेकर उद्योग केंद्र कार्यालय के महाप्रबंधक समेत उच्चधिकारियों से गुहार लगायी लेकिन उनकी फरियाद किसी ने नही सुनी। लिहाजा चालक कैलाश ने दर-दर की ठोकरे खाने के बाद पिछले 4 माह यानी 20 अगस्त से दो मासूम बच्चों के कलेक्ट्रेट स्थित धरना स्थल पर अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठा हुआ हैं और उसने अपनी मांगों को लेकर आईजीआरएस समेत सिटी मजिस्ट्रेट और जिलाधिकारी से भी न्याय की गुहार लगायी हैं किंतु पिछले 4 माह से उसकी फरियाद सुनने वाला कोई नही हैं और वह इस कड़ाके की ठंड में अपनी मांगों को लेकर खुले आसमान में बैठा हुआ हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned